अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हटाया तो यूस को रोकना मुश्किल : मुशर्रफ

पाक राष्ट्रपति मुशर्रफ ने कहा कि अगर उन्हें पद से हटाया जाता है या इस्तीफा देने को मजबूर किया जाता है तो हो सकता है अमेरिकी सेना मुल्क के सीमावर्ती कबाइली इलाकों में कार्रवाई कर डाले और नजरबंदपाक परमाणु वैज्ञानिक अब्दुल कादीर खान को पूछताछ के लिए उड़ा ले जाए। अखबार डॉन में प्रकाशित रिपोर्ट में मुशर्रफ के हवाले से यह भी कहा गया है कि इससे न सिर्फ बलूचिस्तान में ग्वादर बंदरगाह योजना प्रभावित होगी, बल्कि चीन के साथ पाक के रिश्तों पर भी असर पड़ेगा। रिपोर्ट के अनुसार मुशर्रफ ने कभी नहीं चाहा कि परमाणु तकनीक लीक करने के आरोपी कादीर खान अमेरिकी अधिकारियों के हाथ आएं। इसीलिए उन्हें पिछले चार वर्षो से नजरबंद किया हुआ हैं। मुशर्रफ और बुश की दोस्ती के कारण अमेरिका चुप है। सूत्रों का दावा है कि अमेरिका ने वादा किया है कि वह कबायली इलाके में सैनिक कार्रवाई नहीं करेगा, हालांकिवह जानता है कि यह इलाका तालिबान और अल कायदा आतंकियों के लिए स्वर्ग है। सूत्रों का कहना है कि मुशर्रफ पांच साल के कार्यकाल से पहले पद छोड़ने के मूड में नहीं हैं। उल्लेखनीय है कि सत्ताधारी गठबंधन पर राष्ट्रपति के खिलाफ महाभियोग न चलाने के अमेरिकी दबाव के बीच पाक के एक मंत्री सरकार व मुशर्रफ के बीच मध्यस्थता कर रहे हैं। ताकि सहमति बने जिसके तहत राष्ट्रपति की शक्ितयों में कटौती कर उन्हें केवल प्रतीकात्मक राष्ट्र प्रमुख बनाए रखने की बात होगी। एक अधिकारी ने बताया कि राष्ट्रपति अपनी शक्ितयों में कटौती के बावजूद काम करने को तैयार हैं। खबर है कि राष्ट्रपति की ओर से सत्ताधारी गठबंधन को संकेत दिए गए हैं कि वह प्रशासनिक मामलों में हस्तक्षेप नहीं करेंगे। मुशर्रफ के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव लाने से बचने के लिए अमेरिका ने गठबंधन के सहयोगियों को समझाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हटाया तो यूस को रोकना मुश्किल : मुशर्रफ