अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांव-कांव

ोयला वाली कुर्सी पर रूमाल रख के काहे नहीं आये थे- तो फिर धनुष लेके चूहा मारने जाइये सर- नवल, दुमकाड्ढr माया मिली न राम, फोकट में स्टेयरिंग थामे रहिये जनाब- चंदन, पलामूड्ढr अंगूर खट्टे हैं न गुरुाी- नरन तेज, काठीकुंडड्ढr -गेरुआ वस्त्र पहन कर हरिद्वार जाने का मूड है क्या- नीलेश, दुमकाड्ढr मंत्री बनने के लिए लालायित नहीं: शिबूड्ढr घसवे नहीं डालता है तो का कीाियेगा दिलीप संदीपड्ढr सरकार चला रहे हैं यही क्या कम बड़ी बात है : कोड़ाड्ढr भूल गये क्या सर, हेलिकोप्टरवा सबसे बड़ी उपलब्धि है- ज्योति कुमारड्ढr दैया र दैया जो हइये नहीं है उसको भी चला रहे हैं- झुमरी, बोकारोड्ढr एगो का गाल पचकाते हैं, तो दूसर का फूल जाता है- मुकुल जी, चाईबासाड्ढr चलती तो बैलगाड़ी भी है कोड़ा जी- सुचंद, सिल्लीड्ढr गुरुाी को कैबिनेट में शामिल नहीं करने के मायनेड्ढr दिल के अरमां आंसुओं में बह गये, हम वफा करके भी..- विनीतड्ढr टेंशन क्यों लेते हैं, जगह मिलने पर पास दिया जायेगा- सोहन, फुसरोड्ढr छह माह तक और रूलायेगी महंगाईड्ढr और उसके बाद जनता रोने लायक भी नहीं बचेगी- रणु गोयल, धनबादड्ढr छह माह में कांग्रेस की लुटिया डुबेगी क्या- सिद्धार्थ डे, रांचीड्ढr लांबी लड़ाई के बाद मिला झारखंडड्ढr इसीलिए तो हमार नेता-मंत्री भी लंबा-लंबा हाथ मार रहे हैं- आरबी कुमारड्ढr इसीलिए तो अटैची-अटैची खेल कर अपनी थकान मिटा रहे हैं- जीतेंदड्र्ढr चुनाव मैदान में उतरने को आजसू तैयार : चंद्रप्रकाशड्ढr भीड़ को वोट समझियेगा, तो चुनाव में पछताइयेगा- मनोज सेठ, पारसनाथड्ढr मैदान में ही उतरना होगा, खेत में उतरने लायक तो रहे नहीं- पंका कुमारड्ढr दीपिका और रणवीर बैंकाक मेंड्ढr अब मेरा क्या होगा- 0ड्ढr हक छीनने वाले अधिकारी जायेंगे जेल : जलेश्वरड्ढr और अटैची पहुंचानेवाले पायेंगे मलाईदार पद- आशीष अग्रवालड्ढr जमीन पर काम करने की रंगदारी 5000ड्ढr इसीलिए तो सरकार पूरा काम सिर्फ फाइल में ही निबटाती है- बिल्लोड्ढr राष्ट्रभक्तों की पार्टी है भाजपा : प्रवीणड्ढr जो बाबूलाल की ओर भागे हैं, वे स्वतंत्रता सेनानी हैं क्या- अजय रायड्ढr युवाओं के साथ हूं, रहूंगाड्ढr तो बच्चों और बुजुर्गो का क्या होगा- बसंत गोयल, धनबादड्ढr टीचर के रिक्त पद जुलाई तक भरंगे : बंधुड्ढr बरसात में दौड़ा-दौड़ा कर पीटने का भी मन्नत रखे हैं क्या- मिंटू, धनबादड्ढr राहुल गांधी ने ठुकराया मंत्री पदड्ढr बअुवा सीधे पीएम बनी- नीलकंठ चंद्रवंशी, राजगंजड्ढr हवा में ही रोपे गये पौधेड्ढr इंतजार कीािए, आसमान से फल भी टपकेंगे- शिव, चासड्ढr ’शिक्षा की स्थिति ठीक नहीं : बंधुड्ढr -इहां तो अंगूठा छाप भी आजकल लालबत्ती में घूम रहा है- कारी ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कांव-कांव