अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एडीएम साहब बांटेंगे जमीन

अमीन लगाएंगे जमीन का हिसाब और एडीएम साहब बांटेंगे जमीन। भूदान में मिली जमीन को भूमिहीनों और खासकर महादलितों के बीच बांटने के लिए सरकार ने अभियान तेज कर दिया है। अभी भी भूदान में मिली 77 हजार एकड़ से अधिक जमीन बांटी जानी है।ड्ढr ड्ढr बिहार राज्य भूमि सुधार आयोग की रिपोर्ट की सिफारिशों के आधार पर राज्य सरकार ने इस काम को इस साल के अंत तक निपटा देने की घोषणा की है। इसके लिए राज्य के हर जिले में एक रिटायर्ड एडीएम को तथा हर अनुमंडल में एक अमीन को तैनात किया जा रहा है। कुल 38 रिटायर्ड एडीएम और 101 अमीनों की बहाली संविदा के आधार पर हो रही है। रिटायर्ड एडीएम सीधे प्रमंडलीय आयुक्त के नियंत्रण में काम करेंगे। वे जिलाधिकारी के साथ समन्वय कर भूदान में मिली जमीन को मुसहर व महादलितों के बीच बांटने के अभियान में लगेंगे। इस वर्ष के अंत तक जमीन का वितरण कर देने के बाद दाखिल-खारिज की कागजी कार्रवाई पूरी की जाएगी।ड्ढr ड्ढr राजस्व व भूमि सुधार विभाग से मिली जानकारी के अनुसार अब तक भूदान में मिली 3 लाख 56 हजार एकड़ जमीन में से लगभग दो लाख 3 हजार एकड़ जमीन बांटी जा चुकी है। इससे लगभग दो लाख 66 हजार लोगों को लाभ मिला है। दान में मिली जमीन में लगभग 76 हजार एकड़ जमीन बांटने लायक नहीं है। राज्य सरकार इस जमीन की पूरी जांच कराएगी और इसके बाद इसका उपयोग बंजर भूमि विकास योजना के तहत किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एडीएम साहब बांटेंगे जमीन