DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुम हो गया है नर्सिग केयरं

पीएमसीएच में नर्सो की संख्या बढ़ती गयी जबकि नर्सिग केयर गायब है। मरीजों की न तो बेड मेकिंग होती है और नहीं उनका चार्ट तैयार किया जाता है। नर्सिग केयर में मरीज की अधिकांश सेवाएं समाहित हो जाती हैं। मरीज का बेड तैयार करने से लेकर उसका तापमान लेना, स्टोर से दवा लेकर उसका मरीजों में चिकित्सकीय परामर्श के अनुसार वितरण, वार्ड की साफ-सफाई, डॉक्टर के निर्देश का पालन करना, मरीज के पथ्य को सुनिश्चित करना आदि शामिल है। इसके लिए अस्पताल के भर्ती मरीजों का पेशेंट चार्ट भी बनाया गया है।ड्ढr ड्ढr नर्सो की पर्याप्त संख्या आने के बाद भी नर्सिग केयर में सुधार नहीं दिख रहा है। न तो किसी मरीज का तापमान दर्ज किया जाता है और न ही उनकी स्पंजिंग की जाती है। बेड मेकिंग की जानकारी तो दर्जनों नर्सो को नहीं है। मरीज का फ्लुइड चार्ट भी तैयार किया जाता है। इसमें किस मरीज को कितना स्लाइन चढ़ाया गया अथवा कैथेटर लगे मरीज को कितनी मात्रा में पेशाब हुई, इसे दर्ज करना होता है। इससे इलाज में सहूलियत होती है। नर्सिग केयर को लेकर चिकित्सकों को भी आये दिन परेशानी होती है।ड्ढr ड्ढr वार्ड में ड्यूटी पर तैनात नर्सो से सेवा सुनिश्चित कराने के लिए सिस्टर इंचार्ज भी तैनात हैं। नर्सो की ड्यूटी सिर्फ मरीज को चादर देने और स्लाइन आरम्भ करने तक रह गयी है।पूर्ण पेशेंट केयर अस्पताल के सभी वार्डो से गायब है। सरकार की ओर से 1675 बेड के लिए 872 नर्सो की तैनाती की गयी है। इधर अस्पताल की मातृका ज्ञानमयी चौधरी ने कहा कि सभी सिस्टर इंचार्ज को नर्सिग केयर के पालन का निर्देश दिया जा चुका है। अब इसे सख्ती से पालन कराया जाएगा।ंं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गुम हो गया है नर्सिग केयरं