DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोर्ट फी को ले वकीलों का धरना

राज्य सरकार द्वारा बढ़ाये गये कोर्ट फी के खिलाफ चल रहे राज्यव्यापी हड़ताल के क्रम में यहां जिला विधिज्ञ संघ के अधिवक्ताओं ने मंगलवार को व्यवहार न्यायालय के द्वार पर धरना दिया। धरना कार्यक्रम की अध्यक्षता संघ के अध्यक्ष रामाशीष सिंह ने किया, जिसे संबोधित करते हुए अधिवक्ताओं ने कहा कि राज्य सरकार जब तक कोर्ट फी मामले में अपने निर्णय को वापस नहीं लेती तब तक हड़ताल जारी रहेगा। कार्यक्रम को मित्रभान सिंह, आनंद प्रकाश मिश्रा, कृष्ण कुमार सिंह, अवध बिहारी दुबे, रामजी मिश्रा, सगीर अहमद,शैलेन्द्र ओझा, सिद्धार्थ हिटलर, लोकेश्वर नाथ पाठक,हीरालाल सिंह, विरन्द्र कुमार, जगनारायण पांडेय, शिवकुमार मिश्रा, प्रमोद पांडेय, प्रेम प्रकाश सिंह, हरिशंकर दुबे, दयाशंकर तिवारी,दिनेश तिवारी,उमेश चौबे, गोपाल सिंह, धीरा पांडेय आदि अधिवक्ताओं ने संबोधित किया।ड्ढr ड्ढr एसडीओ का आदेश कागजों में सिमटाड्ढr सासाराम (ए.प्र.) । शहर के मध्य गुजर जीटी रोड के दोनों किनार वाहनों का पड़ाव वर्जित अनुमंडल पदाधिकारी का आदेश कागजों में सिमट कर रह गया है। आदेश निकले माह बीतने वाला है, लेकिन उक्त आदेश का कहीं पालन होता नजर नहीं आ रहा है। परिणाम जीटी रोड के दोनों किनार फालगंज से लेकर न्यू एरिया तक पैदल चलना मुश्किल हो गया है। ज्ञातव्य हो कि गत मार्च माह में अनुमंडल पदाधिकारी मनीष कुमार ने बौलिया मोड़ से फालगंज तक जीटी रोड के दोनों किनार, करगहर मोड़ के दोनों किनार व गौरक्षणी-आरा रोड के दोनों किनार वाहन पड़ाव के लिए वर्जित क्षेत्र घोषित किया था। घोषणा में वर्जित क्षेत्र में वाहनों के पकड़े जाने पर नियमानुकूल कार्रवाई का भी आदेश दिया था। लेकिन एक माह गुजरने के बावजूद स्थिति यथावत बनी हुई है। अभी भी वाहनों का पड़ाव बदस्तूर जारी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कोर्ट फी को ले वकीलों का धरना