अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कानपुर में भारत को स्पिन ट्रैक देने की तैयारी

प्रतिष्ठा का सवाल बन चुके तीसरे व अंतिम टेस्ट में खिलाड़ियों की खराब फिटनेस भारत के लिए समस्या बनती नजर आ रही है। ग्रीनपार्क विकेट का दो दिनों के बाद टूटना तय माना जा रहा है। ऐसे में भारतीय कप्तान अनिल कुम्बले के फिटनेस टेस्ट पर अब सबकी नजर गढ़ गई है। मंगलवार की सुबह विकेट पर मौजूद घास को लगभग साफ करने के बाद बीसीसीआई की पिच एवं ग्राउंड कमेटी के चेयरमैन दलजीत सिंह ने शाम लगभग छह बजे एक बार फिर विकेट पर ब्रश चलवाया। अब माना जा रहा है कि पहले दो दिन के खेल के बाद इस विकेट पर स्पिनरों का जलवा देखने को मिल सकता है। ऐसे में सिरीज बचाने के लिए टॉस जीतना और कुम्बले का फिटनेस टेस्ट पास करना काफी जरूरी हो गया है। माना जा रहा है कि इस विकेट पर अंतिम पारी खेलना काफी कठिन होगा। टीम के तेज गेंदबाज ईशान्त शर्मा को भी 11 अप्रैल से शुूरू होने वाले तीसर टेस्ट से पूर्व फिटनेस टेस्ट से गुजरना होगा। दूसरी ओर दक्षिण अफ्रीकी टीम के कैम्प में ऐसी कोई समस्या नहीं है। ग्रीम स्मिथ की टीम के चेहर पर सिरीज में 1-0 की बढ़त के बाद रौनक कुछ और भी बढ़ गई है। ‘मैं फिट तो महसूस कर रहा हूँ लेकिन जब तक फिटनेस टेस्ट नहीं हो जाता कुछ भी कहना ठीक नहीं होगा।’ टीम इंडिया के बाकी सदस्यों से एक घंटा पहले लगभग चार बजे चकेरी एयरपोर्ट से सीधे कानपुर पहुँचे स्पीड स्टार ईशान्त ने होटल की लिफ्ट में प्रवेश करने से पहले ‘हिन्दुस्तान’ से बस इतना ही कहा। इसके बाद वह और रमेश पोवार अपने कमर के लिए चले गए। गेंदबाजों की फिटनेस समस्या पूरी टीम के लिए समस्या का विषय बनी हुई है। गेंदबाजी कोच वेंकटेश प्रसाद इतना चिन्तित हैं कि टीम के साथ होटल में प्रवेश करते ही वह सबसे पहले नौंवीं मंजिल में बने जिम में गए और वहाँ उन्होंने खिलाड़ियों की एक्सरसाइज के लिए मौजूद व्यवस्थाओं का बारीकी से निरीक्षण किया। भारत और दक्षिण अफ्रीका की टीमें आधा घंटा विलम्ब से कानपुर पहुँची। उनको लेकर आने वाली चार्टड फ्लाइट अहमदाबाद से ही विलम्ब से चली। मेहमान टीमों के खिलाड़ी दमकते चेहरों के साथ होटल में सबसे पहले घुसे। लेकिन स्वागत में खड़ी लड़कियों से उन्होंने सांस्कृतिक परम्परा निभाने का मौका छीन लिया। वे बिना तिलक करवाए ही अपने-अपने कमरों में चले गए। शायद इस बात को पीछे-पीछे आ रही भारतीय टीम के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ ने महसूस किया। सौरभ गांगुली के तेजी से निकल जाने के बावजूद वह टीके का थाल लिए लड़कियों की तरफ घूमे और तिलक करवाया। इसके बाद बाकी सभी खिलाड़ियों ने उनका अनुशरण किया। भारतीय खिलाड़ियों को अपनी मान्यताओं और परम्पराओं का अहसास है। वैसे भी उन्हें इस समय दुआ की सख्त जरूरत भी है। दोनों टीमों बुधवार को अयास सत्र में भाग लेंगी। कप्तान अनिल कुम्बले की फिटनेस को लेकर अभी भी संदेह बना हुआ है। लखनऊ एयरपोर्ट पर उनको लाने के लिए एक विशेष कार भी भेजी गई थी लेकिन बाद में वह टीम के साथ बस से ही आए। कुम्बले और ईशान्त शर्मा को मैच में उतरने से पहले फिटनेस टेस्ट देना होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कानपुर में भारत को स्पिन ट्रैक देने की तैयारी