class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब तम्बाकू-सिगरट के खिलाफ छिड़ी मुहिम

वास्थ्य विभाग ने तम्बाकू-सिगरट के खिलाफ नई मुहिम शुरू की है। सिगरट की डिब्बी और तम्बाकू व मसाले के पाउच पर वैधानिक चेतावनी का अंकन न करने वाली कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई होगी। यह भी निर्देश दिए गए हैं कि किसी स्कूल-कॉलेज के आसपास सिगरट-तम्बाकू का विज्ञापन न दिखाया जाए। इस संबंध में जिलाधिकारियों से रिपोर्ट भी माँगी गई है।ड्ढr हाईकोर्ट के निर्देश पर हर जिले में स्वास्थ्य विभाग ने एंटी टोबैको सेल का गठन किया था। जिला स्तर पर सेल को हर महीने अपनी रिपोर्ट शासन को भेजनी थी।ड्ढr लेकिन इस मामले में उदासीनता बरती गई। अब मुख्य सचिव ने सभी जिलाधिकारियों को भेजे अपने निर्देश में कहा है कि सिगरट व अन्य तम्बाकू उत्पादों के पैकेट पर वैधानिक चेतावनी अंकित करना अनिवार्य किया जाए। ऐसा न पाए जाने पर निर्माता कंपनी के खिलाफ कार्रवाई की जाए। शिक्षण संस्थाओं के आसपास तम्बाकू उत्पादों की बिक्री पर रोक लगाई जाए और इनके प्रचार प्रसार व विज्ञापन पर भी रोक लगाई जाए।ड्ढr आदेश में यह भी कहा गया है कि 18 साल से कम उम्र के लोगों को सिगरट व तम्बाकू उत्पाद की विक्रय पर रोक लगाई जाए। मुख्य सचिव ने इस संबंध में 15 दिन के अंदर रिपोर्ट माँगी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अब तम्बाकू-सिगरट के खिलाफ छिड़ी मुहिम