अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजरंग

उल्टा-पुल्टा अलायंसपोलिटिक्स में आजकल अलायंस का जमाना है। अलायंस माने सरकार बनाने के लिए मैजिक नंबर का जोगाड़। एक्चुअली है का कि आजकल का वोटरवन बहुते होशियार हो गया है। किसी भी पार्टी को फूल स्ट्रेंथ में वोटवे नहीं देता है। सो हर पोलिटिकल पार्टी का लोग परशान रहता है। इलेक्शन खतम होने के बाद किसको-किसको अपने साथ सटाना है, इसी फेरा में लग जाता है लोग। यानी लाइक माइंडेड लोग का जुटान होता है। फिर अलायंस बनता है। कोई इसका नाम नेशनल डेमोक्रेटिक देता है तो कोई यूनाइटेड प्रोगेसिव। यानी इनको छोड़ कर देश में न तो कोई डेमोक्रेटिक है न प्रोगेसिव। इ लोग केतना डेमोक्रेटिक और प्रोगेसिव है, पूरा कंट्री का लोग देख रहा है। खैर, हमलोग को इनके डेमोक्रेटिक और प्रोगेसिव होने से का लेना है। अपने स्टेट में भी प्रोगेसिव अलायंस की गवर्नमेंट चल रही है। इ लोग इतना प्रोगेसिव है कि एक दूसर को भला-बुरा कहने में इनका टाइम बीत जाता है। पंजा ब्रांड का लोग तीर-धुनष कंपनीवाला को भला-बुरा कहता है। तीर-धनुष वाला लोग लालटेन छाप के खिलाफ अल्ल-बल्ल बोलता है। फिर भी सभे लोग एके साथे उठता-बैठता, खाता-पीता आउर दांत दिखा-दिखा कर हंसता भी है। इसी को कहते हैं प्रोगेसिव अलायंस। एगो आदमी इ लोगों का रो-रो का नाटक देख कर बोलता है- यूपीए मतलब का? उल्टा-पुल्टा अलायंस।ड्ढr ’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजरंग