अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अतिरिक्त बिजली आवंटन को फिर से प्रयास

राज्य सरकार बिजली की बढ़ती मांग और उपलब्धता की कमी के मद्देनजर केन्द्र से अतिरिक्त आवंटन के लिए फिर से प्रयास करगी। इसके लिए केन्द्र से बिहार मौजूदा कोटे में 200 से 300 मेगावाट अतिरिक्त वृद्धि की मांग करगा। इस समय बिहार को जरूरत की आधी बिजली भी नहीं मिल पा रही है, जिससे संकट की स्थिति बनी हुई है।ड्ढr ड्ढr पिछले दिनों नीतीश सरकार के लगातार चलाए गए अभियान के बावजूद केन्द्र द्वारा बिजली आवंटन में वृद्धि नहीं किए जाने से बिहार निराश है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और ऊर्जा मंत्री विजेन्द्र प्रसाद यादव ने प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह के अलावा केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री सुशील कुमार शिन्दे से बिहार को अतिरिक्त बिजली देने का कई बार अनुरोध भी किया। इस संबंध में केन्द्र ने बिहार को सकारात्मक सहयोग का आश्वासन तो दिया, लेकिन उसका परिणाम कुछ नहीं निकला। इस समय बिहार को केन्द्र से 1170 मेगावाट बिजली का कोटा निर्धारित है, जबकि बिहार की मांग 1500 से 1800 मेगावाट तक पहुंच चुकी है।ड्ढr ड्ढr केन्द्रीय प्रक्षेत्र के तहत बिहार को एनटीपीसी के कहलगांव, फरक्का और तालचर बिजली घर के अलावा ताला, रंगीत और चुखा पनबिजली परियोजनाओं से बिजली प्राप्त होती है। इनमें से किसी बिजलीघर ठप होने से केन्द्र का कोटा कम हो जाता है और बिहार में संकट की स्थिति उत्पन्न हो जाती है। अमूमन बिहार को 600 से 800 मेगावाट बिजली की ही औसतन आपूर्ति हो पाती है। इसके अलावा बिहार के कांटी और बरौनी बिजलीघर से 100-125 मेगावाट बिजली का उत्पादन होता है जबकि बिहार स्टेट हाइड्रोइलेक्िट्रक पावर कारपोरशन (बीएचपीसी) की सात इकाइयों से 25 मेगावाट बिजली उपलब्ध होती है। इन सबके बावजूद बिहार में अधिकतम 00 मेगावाट बिजली ही उपलब्ध है। बिजली बोर्ड के आठ वरीय अभियंताओं का तबादलाड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। बिहार बिजली बोर्ड ने आठ वरीय अभियंताओं का तबादला कर दिया है। छपरा के अधीक्षण अभियंता अशोक कुमार सिंह को भागलपुर का नया महाप्रबंधक बनाया गया है। उनकी जगह बोर्ड मुख्यालय से ओमप्रकाश सिंह को छपरा का अधीक्षण अभियंता बनाया गया है। भागलपुर के अधीक्षण अभियंता अजय कुमार को बोर्ड मुख्यालय बुला लिया गया है, जबकि सहरसा के उपमहाप्रबंधक ए.पी. श्रीवास्तव को भागलपुर का अधीक्षण अभियंता नियुक्त किया गया है। इसके अलावा दरभंगा के अधीक्षण अभियंता एस.एस. चौधरी को सहरसा का महाप्रबंधक, मुजफ्फरपुर के उपमहाप्रबंधक शिवेश झा दरभंगा का अधीक्षण अभियंता, मोतिहारी के अधीक्षण अभियंता आर.वी. शर्मा को सासाराम का अधीक्षण अभियंता और सासाराम के अधीक्षण अभियंता केदार प्रसाद को मोतिहारी का अधीक्षण अभियंता बनाया गया है। बुधवार को बोर्ड द्वारा इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अतिरिक्त बिजली आवंटन को फिर से प्रयास