class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहर में ध्वस्त रही ट्रैफिक व्यवस्था

बुधवार को दोपहर बाद वाहनों के लिए गांधी मैदान इलाका पार करना मुश्किल हो गया। गांधी मैदान से जुड़ी आसपास की तमाम सड़कों पर स्थिति यह थी कि लोगों का पैदल भी सड़क पार करना आसान नहीं था। फ्रजर रोड की ओर से प्रवेश करने के बाद कारगिल चौराहा पार करने में मोटरसाइकिल सवार को आधे घंटे लग रहे थे। शहर की अन्य सड़कों पर भी यही हाल था। वाहनों की ठेलमठेल के बीच लोग धूप में पसीना बहाने को विशश थे। लाल-पीली बत्ती वाली कार हो या नीली बत्ती एम्बुलेंस। आगे सरकने के लिए लंबा इंतजार करना पड़ रहा था।ड्ढr ड्ढr अशोक राजपथ, गांधी मैदान-दानापुर रोड, बैंक रोड, बाकरगंज, नाला रोड, पीरमुहानी, एक्जीबिशन रोड, फ्रजर रोड, स्टेशन रोड, बुद्ध मार्ग, वीरचंद पटेल पथ, आयकर गोलंबर, आर.ब्लॉक, बोरिंग रोड, करबिगहिया, कंकड़बाग कॉलोनी मोड़ के समीप पुरानी बाइपास सड़क समेत आसपास की शाखा व लि़ंक सड़कों पर दिन से लेकर देर शाम तक ट्रैफिक व्यवस्था ध्वस्त रही। गांधी मैदान में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता सम्मेलन में भाग लेने आये लोगों व वाहनों से वीरचंद पटेल पथ, आर.ब्लॉक गोलंबर से गांधी मैदान तक की सड॥कों पर ट्रैफिक का दबाव बढ़ गया। नतीजतन शहर की कई प्रमुख सड़कों पर जाम में लंबी दूरी तक वाहनों की कतार लग गई। उधर अशोक राजपथ पर एम्बुलेंस का भी आगे बढ़ना आसान नहीं था। सिविल कोर्ट के समीप जाम में फंसे व्यवसायी सज्जन अग्रवाल (सब्जीबाग), रवीश कुमार (महेन्द्रू), हरिहर शर्मा (नौबतपुर) व अन्य वाहन सवारों ने राजपथ में पीएमसीएच के समीप से महेन्द्रू इलाके तक सड़क के बीच खाली जगहों पर डिवाइडर बनाने की मा़ंग की ताकि समस्या का कुछ समाधान हो सके।ड्ढr ड्ढr परीक्षा को लेकर रलवे आरक्षण के लिए मारामारीड्ढr पटना (हि.प्र.)। इांीनियरिंग परीक्षाओं को लेकर रलवे आरक्षण में इन दिनों मारामारी चल रही है। कर्नाटक इांीनियरिंग की परीक्षा के कारण बेंगलुरू जाने वाली ट्रेनकी सीटे पहले ही भर चुकी थी, अब दिल्ली, रांची व बोकारो की ट्रेनों में भी वेटिंग लिस्ट शुरू हो गया है। सीबीएसई इांीनियरिंग की परीक्षा 27 अप्रैल को है। इसको लेकर दिल्ली की ट्रेनों में परीक्षा की तिथि के तीन दिनोंे पहले से जाने व परीक्षा के बाद दो दिनों तक लौटने में स्लीपर व एसी थ्री की सीटें फुल हो चुकी हैं। आरक्षण काउंटरों पर छात्रों की लंबी कतार देखने को मिल रही है। संपूर्णक्रांति एक्सप्रेस में 24 से 26 तक स्लीपर में 200 व एसी थ्री में 40 से ऊपर वेटिंग लिस्ट चला रहा है। इसी प्रकार मगध में स्लीपर व एसी थ्री की सीटें उक्त तिथियों में फुल हो गईं हैं। बोकारो व रांची जाने वाली पटना-हटिया एक्सप्रेस में 25 अप्रैल का स्लीपर व एसी थ्री अभी ही फुल हो चुका है, जबकि इस ट्रेन में तीन दिन आगे तक का आरक्षण आराम से मिल जाता है। ज्ञात हो कि बेंगलुरू की ट्रेन में कर्नाटक इांीनियरिंग परीक्षा को लेकर आरक्षण एक माह पहले ही फुल हो चुका था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शहर में ध्वस्त रही ट्रैफिक व्यवस्था