DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नेपाल चुनाव में हुआ भारी मतदान

अभूतपूर्व सुरक्षा इंतजामों के बीच गुरुवार को नेपाल में संविधान सभा के ऐतिहासिक चुनाव में भारी मतदान हुआ। चुनावी हिंसा की छिटपुट घटनाओं में तीन लोगों के मार जाने की खबर है। स्थानीय मीडिया ने ललितपुर में आठ चुनाव कर्मचारियों को अगवा किए जाने की सूचना दी। देश भर में करीब साठ फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। पूर्वी नेपाल के सनसारी जिले में रामनगर भुटाआ मतदान केन्द्र पर माओवादी कार्यकर्ताओं और नेपाली कांग्रेस के समर्थकों के बीच हिंसक झड़प में नेपाली कांग्रेस का एक कार्यकर्ता गंगा दास सिर पर चोट लगने से मारा गया। इस घटना के तुरंत बाद वहां मतदान स्थगित कर दिया गया। देश के विभिन्न हिस्सों से स्थानीय मीडिया की खबरों में कहा गया है कि सबेरे सात बजे मतदान शुरू होते ही मतदान केन्द्रों पर उत्साही मतदाताओं की लंबी कतारें देखी गईं। हिमालयन टाइम्स के मुताबिक, राजधानी काठमांडू में 55 प्रतिशत मतदान की खबर है, जबकि पश्चिमी नेपाल के लामजुंग जिले में दोपहर तक 72 प्रतिशत मतदान हो चुका था। मुख्य चुनाव आयुक्त भोजराज पोखरल ने कहा कि गुरुवार को हुआ मतदान देश में शान्ति स्थापना की ओर अहम कदम है।अन्य जिलों पारसा, रासुवा, बांके, बहहांग, सुरखेत और मुगु जिलों में भी 60 प्रतिशत तक मतदान होने की खबर है। जबकि काठमांडू, दारचुला, चितवन,भक्तपुर मुस्तांग और ललितपुर में 55 फीसदी मतदान हुआ। कुछ जिलों में विरेाधी गुटों के बीच हिसंक संघर्ष और मतदान केन्द्रों पर कब्जा करने जैसी एक आध वारदात हुई। ललितपुर के तीन मतदान केन्द्रों पर माओवादी समर्थकों ने कब्जा कर लिया और माओवादियों की मुखालफत करने वाले मतदाताओं को वोट नहीं डालने दिए गए। खबरों में कहा गया है कि इन लोगों ने आठ चुनाव कर्मचारियों को भी अगवा कर लिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नेपाल चुनाव में हुआ भारी मतदान