DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मौसम की सटीक जानकारी के लिए डॉप्लर रडार लगेगा

बदलते मौसम और उसके पूर्वानुमान की सटीक जानकारी देने के लिए भारत मौसम विज्ञान केन्द्र रांची में डॉप्लर रडार लगाया जायेगा। चीन निर्मित डॉप्लर रडार एक ऐसा यंत्र है, जो मौसम में पल-पल होनेवाले व्यापक फेरबदल का सूक्ष्म अध्ययन कर पहले ही उसके व्यापक स्वरूप और प्रभाव क्षेत्र का अध्ययन कर लेगा। मौसम के क्षेत्र में इसके द्वारा दी जानेवाली सटीक जानकारी से कृषि और उड्डयन के क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव आयेंगे। रडार से वर्षा की सघनता, आंधी, आद्र्रता, तापमान, बर्फबारी और गंभीर मौसम का पूर्वानुमान किया जा सकेगा। यह उपकरण अपने केन्द्र से चार सौ किमी के दायर में आनेवाले क्षेत्रों की जानकारी देने में सक्षम है।ड्ढr इसकी जानकारी देते हुए केन्द्र के डायरक्टर जीके मोहंती ने बताया कि अभी यह देश के कुछ गिने चुने समूद्र तटीय शहरों में आनेवाले आंधी-तूफान और प्राकृतिक आपदाओं के पूर्वानुमान के लिए स्थापित किये गये हैं। कोलकाता, विशाखापट्टनम, मछलीपट्टनम, श्री हरिकोटा और चेन्नई में इसे स्थापित करने के बाद इस उपकरण को पूर्वी क्षेत्र में पटना, गुवाहाटी और अगरतल्ला में इस वर्ष के अंत तक लगा दिया जायेगा। अगले वर्ष से दूसर फेा में रांची समेत देश के 55 शहरों में भी इसे स्थापित किया जायेगा। पटना की तर्ज पर रांची में इसे स्थापित करने के लिए पांच मंजिल की इमारत तैयार करने के लिए भूमि भी उपलब्ध करायी जायेगी। इसके लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी से एनओसी भी लिया जायेगा। पटना में उपकरण की अनुमानित लागत 15 करोड़ रुपये है। उपकरण और आधारभूत संरचनाओं को स्थापित करने के लिए अलग से तीन करोड़ रुपये खर्च होंगे। रांची मौसम विभाग ने इसे स्थापित करने की दिशा में आवश्यक सूचनाएं केंद्र को भेज दिया है। सरकार, सीइओ और जनप्रतिनिधि के साथ त्रिपक्षीय वार्ताड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मौसम की सटीक जानकारी के लिए डॉप्लर रडार लगेगा