DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फर्राटे भरता है कन्हाई महतो का ‘देशी रिक्शा’

अगर लगन से कोई कार्य किया जाये, तो सफलता अवश्य मिलती है। ऐसा ही उदाहरण पेश किया है कन्हाई महतो ने। रिक्शा खींच कर अपने परिवार की जीविका चलानेवाले कन्हाई को अब पैडल नहीं मारना पड़ता है। अपनी प्रतिभा का इस्तेमाल कर कन्हाई ने रिक्शे में इंजन लगा लिया है। लगातार दो साल के प्रयास के बाद उन्हें इसमें सफलता मिली है।ड्ढr चाहे सामान ढोना हो या किसी पैसेंजर को उसके मुकाम तक पहुंचाना, कन्हाई ऊंची-नीची सड़कों को नजरअंदाज करते हुए आगे बढ़ जाते हैं। कन्हाई के मन में खयाल आया कि अगर रिक्शे में इंजन लगा होता, तो कितना अच्छा होता। तब उन्होंने कबाड़ी से मोपेड का पुराना इंजन खरीदा। इसके बाद उसे रिक्शे में लगाने की जुगत लगायी। सीट के नीचे इंजन लगाया और उसे केरोसिन और पेट्रोल का मिश्रण डाल कर चलाया। इंजन लगाने के बाद कन्हाई ने किराये में किसी प्रकार की वृद्धि नहीं की है। उनका रिक्शा एक लीटर में लगभग 60 किलोमीटर चलता है।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: फर्राटे भरता है कन्हाई महतो का ‘देशी रिक्शा’