अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किशोर ने वापस किये सुरक्षा गार्ड

छतरपुर-पाटन विस क्षेत्र के जदयू विधायक राधाकृष्ण किशोर ने अपने सभी सुरक्षाबलों को सरकार को वापस कर दिया है। उन्होंने पलामू सरजेट मेजर अनिल कुमार सिंह को अपने निर्णय से अवगत करा दिया है। उनकी सुरक्षा में लगे सभी 12 जवान पुलिस लाइन में योगदान भी कर चुके हैं। मालूम हो कि राज्य सरकार के निर्देश पर पलामू पुलिस ने विधायक किशोर की सुरक्षा में 12 जवानों को लगाया था। सभी जवानों को वापस करने के बाद किशोर इकलौते विधायक हो गये हैं, जिनके पास कोई सुरक्षा गार्ड नहीं है। उन्होंने कहा है कि अब उनकी सुरक्षा इस राज्य और उनके विधानसभा क्षेत्र की आम जनता और ईश्वर के हाथ में रहेगी। सार्जेट मेजर को दिये पत्र में उन्होंने लिखा है कि ‘विगत दिनों पलामू पुलिस द्वारा आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में एक तथाकथित उग्रवादी को 20 लाख रुपये की ठेकेदारी मेरे द्वारा दिलाने की बात बतायी गयी। उसके साथ मेर संबंध भी बताये गये। मेरी संसदीय लोकतांत्रिक छवि के बार में पलामू एसपी का यदि यही आकलन है, तो फिर मुझे सुरक्षा गार्ड की क्या जरूरत है? निराधार और असत्य बात मीडिया में रखे जाने से मैं दुखित हूं। इस कारण सरकार के आदेश पर उपलब्ध कराये गये सुरक्षा गार्ड को मैं वापस करता हूं।’ यह कहे जाने पर कि पलामू एसपी दीपक वर्मा ने इस मामले में स्पष्ट कर दिया है कि गिफ्तार नक्सली संजय यादव की बातें विश्वास योग्य नहीं हैं, के जवाब में उन्होंने हिन्दुस्तान से कहा कि बिना सत्यापन के उसका स्वीकारोक्ित बयान मीडिया तक आखिर क्यों पहुंचा? ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: किशोर ने वापस किये सुरक्षा गार्ड