अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब अमिताभ चौधरी और जीएस रथ में महाभारत

राज्य पुलिस के दो आला अफसरों के बीच तलवारं खिंची हैं। हालांकि सीआइडी के ये दोनों अफसर किसी तरह के मनमुटाव से इनकार करते हैं, लेकिन बातों ही बातों में एक-दूसर की कार्यप्रणाली पर उंगली उठाने से भी नहीं कतरा रहे। यह महाभारत सीआइडी के एडीाीपी जीएस रथ और आइजी अमिताभ चौधरी के बीच छिड़ी है।ड्ढr एडीाीपी रथ का आरोप है कि 1रवरी के बाद उन्होंने आइजी चौधरी को ऑफिस में देखा तक नहीं है। वह दफ्तर आ रहे हैं या नहीं, इसकी जानकारी भी उन्हें नहीं है। वे कहते हैं- सुना है, चौधरी दफ्तर आते हैं और तुरंत चले जाते हैं। मेरी उनके साथ1रवरी को ही अंतिम मीटिंग हुई थी। वे मुझे सीआइडी चीफ के रूप में पसंद नहीं करते।ड्ढr रथ ने बताया कि पिताजी की मौत के बाद उन्हें छुट्टी पर जाना पड़ा। इसी बीच सरकार ने चौधरी को भी छुट्टी पर जाने को कहा। चौधरी ने पुलिस मुख्यालय में जाकर छुट्टी के लिए अप्लाई तो किया, लेकिन आवेदन की कॉपी सीआइडी को नहीं दी। मैं जब छुट्टी से लौटा, तो जानकारी मिली। इसके बाद चौधरी का काम आइजी मीणा के सुपुर्द कर दिया।ड्ढr रथ कहते हैं कि चौधरी की छुट्टी मंजूर हुई या नहीं, इसकी जानकारी उन्हें नहीं है। इसलिए अगर चौधरी ड्यूटी पर हैं तो इसकी ऑफिशियल जानकारी उन्हें होनी चाहिए। हालांकि वे चौधरी के साथ किसी मनमुटाव से इनकार करते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ने मुझे सीआइडी चीफ बनाया है और मैं काम करता रहूंगा। उन्होंने बताया कि मौजूदा स्थिति से सरकार को अवगत करा दिया गया है। उधर, आइजी चौधरी का कहना है कि वे ड्यूटी पर आ रहे हैं। उन्होंने बताया कि सरकार ने मुझे छुट्टी पर जाने को कहा था, लेकिन अर्जी मंजूर नहीं हुई। मैं दफ्तर आता हूं, यह सबको पता है। मुझे जो काम दिया गया है, उसे कर रहा हूं। लेकिन विभाग के अधिकारियों से अपनी नाराजगी वे भी नहीं छुपा पाये। उन्होंने कहा कि मेरी गाड़ी में पेट्रोल डालने तक पर पाबंदी है। हालांकि वे एडीजीपी से किसी प्रकार के मनमुटाव से इनकार कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि मैं 25 अप्रैल से छुट्टी पर जाऊंगा, इसके लिए एप्लिकेशन दे दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अब अमिताभ चौधरी और जीएस रथ में महाभारत