अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत-बंगलादेश ट्रेन को मंत्रिमंडल की हरी झंडी

ेन्द्रीय मंत्रिमंडल ने भारत और बंगलादेश के बीच 14 अप्रैल से ट्रेन सेवा शुरू करने को शुक्रवार को मंजूरी दे दी। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की बैठक में दोनों देशों के बीच ट्रेन चलाने को मंजूरी दी गई जिसे मैत्री एक्सप्रेस नाम दिया गया है। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री कपिल सिब्बल ने संवाददाताआें से कहा कि मंत्रिमंडल ने भारत और बंगला देश के बीच इस बारे में करार के प्रस्ताव का अनुमोदन कर दिया। उन्हांेने कहा कि ढाका-कोलकाता यात्री गाड़ी बंगला नव वर्ष पर 14 अप्रैल से चलने लगेगी। इससे भारत और बंगला देश के बीच संबंध मजबूत होंगे। दोनों देशों के अधिकारी 43 साल के अंतराल पर बहाल हुई ट्रेन सेवा के लिए अंतिम तैयारियों को अंजाम दे चुके हैं। ट्रेन कोलकाता के चितपुर स्टेशन से ढाका छावनी स्टेशन के बीच चलेगी। दोनों स्टेशनों के बीच 538 किलोमीटर का फासला बंगलादेश में 418 किलोमीटर और भारत में 120 किलोमीटर 13 से 14 घंटे में पूरा किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि दोनों देशों के रेल अधिकारियों ने रेल सेवा बहाल करने से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर तीन अप्रैल को ढाका मेंचर्चा की थी। भारत और बंगला देश के बीच ट्रेन सेवा 1में भारत-पाक युद्ध के दौरान रोक दी गई थी। उस समय बंगला देश पूर्वी पाकिस्तान के रूप में पाकिस्तान का हिस्सा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भारत-बंगलादेश ट्रेन को मंत्रिमंडल की हरी झंडी