DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कैदी की मौत मामले में हत्या का मुकदमा

बेऊर जेल में सजा काट रहे कैदी सुजीत साह उर्फ हिरामन की महा 12 सौ रुपए चोरी किए जाने के आरोप में जेल के आलाधिकारियों के इशार पर सैप जवानों और जेल के सिपाहियों ने बेदर्दी से पिटाई कर मौत के घाट उतारने के मामले में पुलिस ने हत्या और साक्ष्य छुपाने के आरोप में आधा दर्जन अज्ञात लोगों पर मुकदमा किया है। शुक्रव्वार को न्यायिक दंडाधिकारी की देखरख में मृतक कैदी का पोस्टमार्टम कराया गया । पोस्टमार्टम में हत्या की पुष्टि हुई है। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसएसपी अमित कुमार ने खुद बेऊर जेल जाकर घटना की छानबीन की तथा दावा किया है कि तीन दिनों के अन्दर सभी आरोपितों की पचहान कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा है कि किसी भी सूरत में एक भी दोषी बख्शे नहीं जाएंगे।ड्ढr ड्ढr पुलिस इस मामले में सूचक बनी है। बेऊर जेल में शुक्रवार को स्थिति विस्फोटक बनी रही। जेल के बंदियों ने बंदी साथी की मौत के विरोध में जेल में जमकर हंगामा मचाया। यमुना खंड के कई वार्डो के कैदियों ने दोपहर के भोजन का बहिष्कार कर दिया। स्थिति बिगड़ती देख जेल प्रशासन ने बंदियों को बलपूर्वक अपने-अपने वार्डो में जाने को बाध्य कर दिया तथा सभी वार्ड सील कर दिए गए। इस बीच पटना के वरीय आरक्षी अधीक्षक अमित कुमार के जेल पहुंचते ही वहां के अधिकारियों तथा जेल प्रशासन के बीच हड़कंप मच गया। उन्होंने गुरुवार को कैदी की मौत के वक्त डय़ूटी पर तैनात जेल अधिकारियों व पुलिसकर्मियों से गहन पूछताछ की।गौरतलब है कि धनरुआ निवासी सुजीत साह उर्फ हिरामन जो दुष्कर्म के एक मामले में इस जेल में दस वर्षो की सजा काट रहा था की सैप और जेल पुलिस के जवानों ने गुरुवार को इतनी पिटाई कर दी थी कि उसकी जेल में ही मौत हो गई।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कैदी की मौत मामले में हत्या का मुकदमा