DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मंडल के 417 कर्मियों को मिला डीआरएम अवार्ड

अपने-अपने क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले दानापुर रल मंडल के 417 कर्मियों को डीआरएम अवार्ड से नवाजा गया। 53 वें रल सप्ताह समारोह के अवसर पर शुक्रवार को दानापुर मंडल के डीआरएम बीडी गर्ग ने कर्मियों को प्रशस्ति पत्र व नकद राशि प्रदान की। श्री गर्ग ने कर्मियों को आह्वान करते हुए कहा कि दानापुर मंडल को भारतीय रल के मानचित्र पर लाना है।ड्ढr ड्ढr उन्होंने कहा कि वित्तीय वर्ष 2007-08 में मंडल ने पिछले वर्ष की तुलना में 18.3ीसदी की वृद्धि दर्ज करते हुए 414.15 करोड़ रुपये की आय प्राप्त की है। ट्रेनों का समय पालन भी पिछले वर्ष की तुलना में काफी बेहतरीसदी पहुंच गया है। इस वर्ष में फतुहा, हिलसा, रामपुर डुमरा, दनियावां आदि स्टेशनों पर 24 कोच रखने लायक प्लेटफॉर्मो का विस्तार किया गया। डीआरएम अवार्ड प्राप्त करने वालों में पटना जंक्शन पर कार्यरत सीआईटी शौकत जमाल, आया सुमित्रा देवी, राजेंद्र नगर टर्मिनल पर कार्यरत स्टेशन मास्टर राजेश कुमार, ललित कुमार मिश्रा, यार्ड मास्टर रवींद्र ठाकुर, शंट मैन देवानंद सिंह, वाण्ज्यि निरीक्षक निर्मल सैमुअल, पार्सल विभाग के रांन सिंह, दानापुर में कार्यरत वेतन लिपिक राजन सिंह, के आराू, पवन कुमार, अशोक गुप्ता, रामाधार राय आदि शामिल हैं। इस अवसर पर एडीआरएम राधेरमण, वरीय कामिर्क अधिकारी बीके सिंह, सीनियर डीसीएम ओमप्रकाश, सीनियर डीओएम आशीष झा, सीनियर डीएसओ विनीत कुमार, कमांडेंट महेश्वर सिंह, आरपी कौसर, रवीश कुमार आदि अधिकारी उपस्थित थे।ड्ढr ड्ढr जं. पर पैदल ऊपरी पुल का शुभारंभ मई तक : डीआरएमड्ढr पटना (हि.प्र.)। राजेंद्र नगर टर्मिनल के पैदल ऊपरी पुल का निर्माण कार्य कम समय में पूरा कर रलमंत्री से इनाम हासिल कर चुका रलवे प्रशासन पटना जंक्शन के पुल को पूरा करने में सुस्ती बरत रहा है। यही कारण है कि जंक्शन के पैदल ऊपरी पुल के उद्घाटन की तिथि तीन बार टल चुकी है। अंतिम तिथि 31 मार्च को निर्धारित की गयी थी। इस पुल की कमी यात्रियों को काफी खल रही है, जिसे 20 फुट चौड़ा करने के लिए दो वर्ष पहले तोड़ा गया था। पहले इसकी चौड़ाई मात्र छह फुट थी। इसके अलावा दो और पैदल ऊपरी पुल हैं, जो जंक्शन के दोनों छोर पर हैं। निर्माणाधीन पुल बीच में पड़ता है। दानापुर मंडल के डीआरएम बीडी गर्ग ने बताया कि पुल के लिए प्लेटफॉर्म नंबर एक पर स्थित कुछ कमरों को तोड़ना पड़ रहा है। इस प्लेटफॉर्म पर यात्रियों की भीड़ भी काफी रहती है और इसपर कई ट्रेनें रूकती हैं। यात्रियों की सुरक्षा का ख्याल रखते हुए निर्माण कार्य चलाया जा रहा है। भीड़ के कारण निर्माण कार्य प्रभावित होता है। इस कारण से पुल बनने में थोड़ी देरी हो रही है। उन्होंने आशा व्यक्त किया है कि मई तक पुल का निर्माण कार्य पूरा कर लिया जाएगा।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मंडल के 417 कर्मियों को मिला डीआरएम अवार्ड