अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बढ़िया काम करने वाले पुरस्कृत होंगे

अच्छे और बेहतर काम करने वाले बिजली इंजीनियरों को पुरस्कृत किया जाएगा जबकि कामचोर और सुस्त इंजीनियर दंडित होंगे। राज्य सरकार इस संबंध में विस्तृत कार्ययोजना तैयार कर रही है।ड्ढr बताया जाता है कि ‘रणबांकुरों’ को सम्मानित करने के लिए बने योजना प्रारूप को ऊर्जा मंत्री विजेन्द्र प्रसाद यादव की हरी झंडी मिल चुकी है। पिछले दिनों श्री यादव ने इस संबंध में योजना बनाने को कहा था। सरकार ऐसे इंजीनियरों को जिन्होंने राजस्व वसूली में बेहतर योगदान दिया है, ऐसी योजना में चयनित करगी। यही नहीं जिन्होंने इस मामले में सुस्ती बरती और राजस्व वसूली अभियान में कोताही बरती है, के गोपनीय प्रतिवेदन में टिप्पणी की जाएगी। सबकुछ ठीक रहा तो इन इंजीनियरों को विशेष समारोह में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सम्मानित करंगे।ड्ढr ड्ढr पिछले दिनों बिहार बिजली बोर्ड की कार्यप्रणाली में आए गुणात्मक सुधार के बाद सरकार ने यह कदम उठाया है। ऊर्जा मंत्री ने इसके लिए कमान अपने हाथों में थामी। उन्होंने राजस्व वृद्धि के लिए लगातार मानीटरिंग की। बिजली बोर्ड अध्यक्ष स्वपन मुखर्जी ने बोर्ड की राजस्व वृद्धि के लिए लगातार मेहनत की और उनके दिए गए दिशा-निर्देश के तहत वित्त नियंत्रक एस.एस.पी. सिंह के नेतृत्व में राजस्व निदेशालय ने अपने प्रदर्शन से बोर्ड की पुरानी छवि ही बदल दी। एक वर्ष पूर्व तक बोर्ड की मासिक वसूली 60 से 70 करोड़ रुपए ही थी जबकि वर्ष 2007 के मार्च से ही बोर्ड में राजस्व वसूली का ग्राफ 100 करोड़ पार कर गया। यह प्रदर्शन अबतक बरकरार है। बिजली बोर्ड द्वारा 100 करोड़ रुपए मासिक राजस्व वसूली के ग्राफ को छूने के बाद से ही सरकार इस दिशा में काम करने लगी थी। बीते माह बिजली बोर्ड की राजस्व वसूली 162 करोड़ रुपए से अधिक रही जबकि बीते वर्ष में इसी माह में वसूली मात्र 135 करोड़ थी। ऐसा तब हुआ है जबकि बिजली बोर्ड के पास बिजली की औसत उपलब्धता जरूरत की आधी भी नहीं रही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बढ़िया काम करने वाले पुरस्कृत होंगे