अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चौसा इलाका वैसी कीमत

राजधानी में सब्जी और फलों की कीमतों में एकरूपता नहीं होने से लोगों को कुछ अजीबो-गरीब परशानियों से दो-चार होना पड़ रहा है। मूल्यों में समानता नहीं होना प्रशासन व सरकार के लिए भी एक सिरदर्द साबित हो रहा है। राजधानी के बाशिंदे कंकड़बाग से लेकर पाटलिपुत्र कालोनी और अशोक राजपथ से गर्दनीबाग तक के चौक-चौराहे पर बिक रही सब्जी और फलों के मूल्यों में भिन्नता देखकर भौंचक रह जाते हैं।ड्ढr ड्ढr इस संवाददाता ने शहर के विभिन्न भागों में दौरा करने के बाद पाया कि जिस परवल की कीमत दीघा में 15 से 20 रुपए प्रति किलोग्राम था, वही परवल कंकड़बाग में 25 रुपए प्रति किलो बिक रहा था। यही बात फलों के साथ भी देखने को मिली। यह दीगर बात है कि फलों की कीमत सबसे ज्यादा आयकर गोलंबर एवं डाकबंगला चौराहा पर होती है लेकिन दुकानदारों का दावा है कि इनकी क्वालिटी अन्य फल बाजारों से भिन्न होती है। पर एक ही सामान की अलग-अलग इलाकों में भिन्न-भिन्न कीमतें आम शहरी को चौंकाती हैं। लोगों के मुताबिक खुदरा बाजार पर किसी का नियंत्रण नहीं है और चीजों की कीमतें दुकानदार खुद तय करते हैं। इन्हें खरीदना और उपयोग करना जनता की मजबूरी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चौसा इलाका वैसी कीमत