class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्लास्गो हमला : सबील भारत प्रत्यर्पित होगा

लास्गो हवाई अड्डे को बम से उड़ाने की कार्रवाई को अंजाम देने वाले कफील अहमद के भाई सबील अहमद को कोर्ट ने आतंकी कार्रवाई की सूचना छिपाए जाने का दोषी पाया है और उसे 18 महीने की कैद की सजा सुनाई है। सजा पूरी करने के बाद उसे ब्रिटेन में रहने की अनुमति नहीं दी जाएगी और उसे भारत प्रत्यर्पित कर दिया जाएगा। शुक्रवार को ओल्ड बेली कोर्ट में सजा सुनाते हुए न्यायाधीश काल्वर्ट स्मिथ ने कहा कि सबील को किसी आतंकी संगठन से संबंध रखने का दोषी नहीं पाया गया है और न ही वह किसी प्रकार का आतंकी विचारधारा रखती है, लेकिन उसने अपने भाई की इस प्रकार की कार्रवाई में संलिप्तता की जानकारी होने के बावजूद यह जानकारी पुलिस से छिपाई। सबील का वहां के जनरल मेडिकल काउंसिल के साथ एक साल की करार था, जिसकी अवधि पिछले साल जुलाई में समाप्त हो गई। सबील के भाई कफील ने पिछले साल 30 जून को ग्लास्गो हवाई अड्डे में विस्फोटकों से भरी जीप लेकर घुस गया था। घटना के एक हफ्ते बाद उसकी अस्पताल में मृत्यु हो गई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ग्लास्गो हमला : सबील भारत प्रत्यर्पित होगा