DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महँगाई न रुकी तो स्थिति भयावह होगी:आईएमएफ

महँगाई रोकें वर्ना बेकाबू हो जाएँगे हालात: मुद्राकोष भारत में यह एक बड़ा राजनीतिक मुद्दा: कोचर अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने भारत सरकार से कहा है कि वह उड़ान भरती महँगाई को काबू में करने के लिए तत्काल कदम उठाए। मुद्राकोष ने कहा कि भारत में महँगाई एक गंभीर राजनीतिक मुद्दा बन चुकी है। अगर मुद्रास्फीति पर अंकुश नहीं लगाया गया तो समस्या भयावह रूप ले सकती है। तब इसे संभालना मुश्किल हो जाएगा। हालाँकि भारतीय अर्थव्यवस्था के बार में मुद्राकोष की सोच सकारात्मक है। उसका कहना है कि भारत में विकास की मजबूत नींव पड़ चुकी है। रास्ते में उतार-चढ़ाव आएँगे लेकिन विकास का पहिया पटरी से नहीं उतरगा। इस बीच, वित्तमंत्री पी चिदम्बरम का कहना है कि भारत मुद्नास्फीति से उत्पन्न हालात को संभालने में सक्षम है।ड्ढr आईएमएफ की एशिया और प्रशांत विभाग की वरिष्ठ सलाहकार कल्पना कोचर ने कहा कि भारत में मुद्रास्फीति की दर फिलहाल साढ़े सात फीसदी है। इसे बहुत ज्यादा नहीं माना जा सकता, लेकिन राजनीति में इसे लेकर चर्चा हो रही है। उन्होंने कहा कि महँगाई के बढ़ने की वजह खाद्य पदार्थो, ईंधन और कुछ धातुओं की कीमतों में बढ़ोतरी है। हालाँकि सरकार ने कुछ कदम उठाए हैं, लेकिन अब भी महँगाई कम नहीं हुई है।ड्ढr उन्होंने भारत की आर्थिक स्थिति पर कहा कि वित्तीय स्थिति एक बड़ा मुद्दा है। इस दिशा में कुछ प्रगति हुई है, लेकिन अब भी काफी कुछ किया जाना है। उन्होंने कहा-‘मेरा मानना है कि भारत में विकास की प्रक्रिया ने अच्छी प्रगति की है। विकास जो मजबूत नींव पड़ी है, उसे उत्पादकता, निवेश और निजी क्षेत्र मजबूती प्रदान करंगे।’ उन्होंने कहा कि यह मानने का कोई कारण नहीं कि कड्रिट बाजार की गड़बड़ियों से भारत में विकास का ‘खेल खराब’ हो जाएगा। निवेश के विस्तृत आयाम हैं। पिछले दो साल में इसमें काफी प्रगति हुई है। इस रफ्तार को कायम रखने की जरूरत है।ड्ढr उनका कहना था-‘आप कह सकते हैं कि कड्रिट बाजार में बड़ा संकट आए तो उससे भारत प्रभावित हो सकता है लेकिन एक बात आपको माननी पड़ेगी कि भारत में बैंकों में काफी तरलता है। इसके अलावा साख विकास की रफ्तार 25 फीसदी की दर से बढ़ रही है।’ कल्पना कोचर ने कहा कि आप इसी से समझ सकते हैं कि पिछले साल इसी समय डॉलर के मुकाबले रुपए की कीमत बढ़ी थी और अब भी यह उसी स्तर पर कायम है।ड्ढr उन्होंने कहा कि भारत ने वैश्विक अर्थव्यवस्था को महत्वपूर्ण योगदान दिया है और इसका सभी देश स्वागत करते हैं। सुश्री कोचर ने कहा कि चीन पर सबकी नजरं टिकी हुई हैं लेकिन हम भारत को भी चीन के ही समान बड़ा खिलाड़ी मानते हैं। ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: महँगाई न रुकी तो स्थिति भयावह होगी:आईएमएफ