DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जब से बनी सरकार नहीं हुआ दंगा : नीतीश

ढाई साल के अंदर बिहार में जो माहौल बना है उससे बिहारी कहलाना अब शान की बात हो गई है। जब से हमारी सरकार बनी है तब से न तो कहीं दंगा हुआ है और न ही जनसंहार बल्कि साम्प्रदायिक और सामाजिक सद्भाव के बीच बिहार में अमन और शांति के साथ भयमुक्त समाज कायम हुआ है। बिहार जिस मजबूती के साथ आगे बढ़ रहा है उससे लोगों को पेट भरने के लिए अब बाहर कमाने नहीं जाना पड़ेगा।ड्ढr ड्ढr मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शनिवार को आरा-सलेमपुर-बिहिया पथ पर रमडिहरा गांव के पास घौस नदी पर 2 करोड़ 33 लाख की लागत से बने पुल का उद्घाटन करने के बाद शाहपुर प्रखंड के रामडिहरा में समाजवादी नेता पं. रामानंद तिवारी की पुण्यतिथि पर आयोजित समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि भेदभाव को भुलाकर राज्य में जो खुशहाली आ रही है इससे बिहार को तरक्की करने से कोई नहीं रोक सकता है। मुख्यमंत्री ने पं. रामानंद तिवारी के व्यक्तित्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि स्वर्गीय तिवारी ने समाजवादी आंदोलन को बिहार में जो मजबूती दिलायी, उसे हमेशा याद रखा जा जाएगा।ड्ढr ड्ढr उन्होंने कहा कि पं. रामानंद तिवारी आजादी के बाद कांग्रेस के साथ लड़ाई लड़े मगर वे बिहार में कांग्रेस के अवसान को नहीं देख पाए। अब बिहार में वहीं पार्टियां हैं जिनका रिश्ता स्व. तिवारी की विचारधारा से है। उन्होंने कहा कि कुछ दिनों के लिए शिवानंद तिवारी नाराज होकर दूसर पार्टी में चले गए थे। जिससे उन्हें मुन्नी देवी का साथ देकर उनमें दम भरना पड़ा। शिवानंद तिवारी जी उनके विरुद्ध खूब बोले लेकिन हम नहीं बोले क्योंकि जब मौका मिला हमने तिवारी जी को वापस बुला लिया। उन्होंने कहा कि जब तिवारी जी वापस अपने घर आये तो मुन्नी देवी परशान थी लेकिन आज मुन्नी देवी को परेशानी दूर हो गई है।ड्ढr ड्ढr इस अवसर पर पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने कहा कि सूबे में जब सड़कों का निर्माण तेजी से शुरू हुआ तो दिल्ली में बैठे लोगों ने अलकतरा, सीमेंट, छड़ को महंगा कर विकास कार्य को रोकने की साजिश शुरू कर दी। शिवानंद तिवारी ने कहा कि बिहार में विकास मॉडल का जो ढांचा बना है, वह मिसाल है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जब से बनी सरकार नहीं हुआ दंगा : नीतीश