DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अगला एजेंडा निजी क्षेत्र में कोटा: अजरुन

मानव संसाधन मंत्री अजरुन सिंह ने कहा है कि सत्तारूढ़ संप्रग में क्रीमीलेयर मुद्दे पर विरोध के बावजूद पिछड़ों को कोटा देने में देरी नहीं होगी। सिंह ने इस अखबार से कहा कि एक बार सुप्रीम कोर्ट के आदेश को प्राथमिकता से लागू करा देने के बाद निजी संस्थानों में प्रवेश और फीस के बार में बि लाया जायेगा। सिंह ने कहा ‘मैं अपने इस इरादे से भागूंगा नहीं।’ उन्होंने कहा कि क्रीमी लेयर को छांट अन्य पिछड़ोंको आरक्षण सुनिश्चित करने को लागू करने के बार में केंद्रीय संस्थानों से संपर्क बनाये हुए है। सिंह इस बात के लिए बिल्कुल तैयार नहीं हैं कि क्रीमी लेयर को लेकर उठे विवादों को बहाना बनाकर इन संस्थानों में ओबीसी आरक्षण देने में देरी हो।ड्ढr सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अपने पहले इंटरव्यू में उन्होंने कहा ‘क्रीमी लेयर के मुद्दे पर आम सहमति बनाने की जरूरत है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि इसके कारण आरक्षण लागू करने में देरी की जाए, जिसे लागू करने का फैसला सुप्रीम कोर्ट दे चुका है।’ड्ढr गौरतलब है कि संप्रग के डीएमके, पीएमके और लोजपा जसे घटक क्रीमी लेयर को आरक्षण के दायर से बाहर रखने का विरोध कर रहे हैं। सिंह ने कहा ‘क्रीमी लेयर पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान किया जाएगा।’ उन्होंने आगे कहा कि सरकारी सहायता रहित निजी शिक्षण संस्थानों में प्रवेश और फीस के बार में एक नियामक कानून बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला इस संबंध में लाए जाने वाले विधेयक को नहीं रोकेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अगला एजेंडा निजी क्षेत्र में कोटा: अजरुन