DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पांच साल बाद पुनर्गठित होगा राज्य समाज कल्याण बोर्ड

लगभग पांच साल बाद बिहार राज्य समाज कल्याण बोर्ड पुनर्गठित होगा। पूर्व मंत्री सीता सिन्हा के बोर्ड का अध्यक्ष बनने का रास्ता साफ हो गया है। उनके नाम पर अब केन्द्र ने भी मुहर लगा दी है। केन्द्र द्वारा भेजी गयी अनुशंसा समाज कल्याण विभाग में पहुंच गयी है। अब मंत्रिमंडल से अनुमोदन होने के साथ ही नए बोर्ड का गठन हो जाएगा। केन्द्र ने बोर्ड के 13 सदस्यों के नामों की भी अनुशंसा की है। लगभग दो महीने पूर्व राज्य सरकार ने अध्यक्ष पद के लिए पूर्व मंत्री सीता सिन्हा व कुमुद वर्मा का नाम अनुशंसित कर केन्द्र को भेजा था। समाज कल्याण विभाग के प्रधान सचिव विजय प्रकाश ने बताया कि मंत्रिमंडल से अनुमोदन के बाद बोर्ड का गठन होगा। झारखंड बनने के पूर्व गठित बोर्ड का कार्यकाल पहली अप्रैल 2003 को समाप्त हो गया था।ड्ढr ड्ढr परीक्षकों की कमी को दूर करेगी समितिड्ढr पटना (हि.प्र.)। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने तय किया है कि किसी भी स्थिति में मूल्यांकन केंद्रों पर परीक्षकों की कमी नहीं होने दी जाएगी। कई केंद्रों पर परीक्षकों की कमी हो गयी है। इसको लेकर मूल्यांकन कार्य को गति नहीं प्रदान किया जा सका है। ऐसी शिकायतों पर समिति ने ध्यान देना शुरू किया है। सचिव अनूप कुमार सिन्हा का कहना है कि हमलोगों ने तय किया है कि 10 दिनों में मूल्यांकन कार्य को पूरा कर लिया जाए। इसके लिए विस्तृत कार्यक्रम तैयार किया गया है। सभी केंद्रीकृत मूल्यांकन केंद्रों पर परीक्षकों को विशेष सुविधा दी गयी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पांच साल बाद पुनर्गठित होगा राज्य समाज कल्याण बोर्ड