DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डायरक्टर की वापसी की मांग पर अड़े छात्र

निफ्ट के डायरक्टर एमके बनर्जी को गैर कानूनी ढंग से हटाये जाने के खिलाफ दूसर दिन रविवार को भी मुख्य द्वार पर विद्यार्थियों का धरना और अनशन जारी रहा। विद्यार्थियों ने कहा कि आंदोलन की सूचना केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय और शिक्षा संबंधी संसदीय समिति को फैक्स द्वारा भेज दी गयी है। श्री बनर्जी को बोर्ड ऑफ गवर्नर की मीटिंग नहीं बुलाये जाने के आरोप में बिना कारण बताओ नोटिस जारी किये ही हटा दिया गया है। बोर्ड ऑफ गवनर्स की मीटिंग में कुछ ऐसे प्रस्ताव लाये जाने की सूचना थी, जिससे निफ्ट की स्वायतत्ता पर असर पड़ता, इसलिए बनर्जी मीटिंग नहीं बुला रहे थे। बनर्जी की नियुक्ित केंद्रीय कैबिनेट की मंजूरी के बाद हुई थी। इनको हटाने की भी प्रक्रिया कैबिनेट की मंजूरी के बाद ही की जानी चाहिए थी, लेकिन ऐसा नहीं किया गया। धरना पर बैठे विद्यार्थियों ने कहा कि निफ्ट के शिक्षकों से उनका कोई विवाद नहीं है। बनर्जी की वापसी तक कक्षाओं का बहिष्कार और अनशन जारी रहेगा।ड्ढr इधर कई अन्य तकनीकी संस्थानों के विद्यार्थियों का सहयोग आंदोलनरत छात्रों को मिल रहा है। निफ्ट के छात्र एक मोरचा का गठन करने वाले हैं। छात्रों ने बताया कि निफ्ट परिसर में बनर्जी द्वारा ऐसा क्रिकेट पिच बनाया गया है जो सिर्फ झारखंड में तीन ही है। ऐसे विकासवादी डायरक्टर को हटाना गले से नहीं उतर रहा। सोमवार को राज्य के शिक्षा मंत्री बंधु तिर्की से मिलने का कार्यक्रम है। मंगलवार को छात्र मौन जुलूस निकालेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: डायरक्टर की वापसी की मांग पर अड़े छात्र