DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फूल-माला, आतिशबाजी और नारबाजी

ूल-माला, अबीर-गुलाल, आतिशबाजी और नारबाजी। लोकतंत्र की जंग के रिजल्ट के दिन शनिवार को एएन कॉलेज मतगणना केन्द्र के बाहर बोरिंग रोड का यही नजारा था। पटना साहिब और पाटलिपुत्र लोक सभा क्षेत्र से राजग गठबंधन के विजयी प्रत्याशियों शत्रुघ्न सिन्हा और रंजन प्रसाद यादव का बोरिंग रोड में शनिवार को जोरदार इस्तकबाल किया गया। कार्यकर्ताओं और समर्थकों ने अनोखे अंदाज में जश्न मनाया।ड्ढr ड्ढr सबसे पहले दिन में करीब सवा तीन बजे पटना साहिब के भाजपा प्रत्याशी शत्रुघ्न के विजेता होने की घोषणा होते ही बाहर कार्यकर्ताओं ने ‘जिंदाबाद ..’ की गगनभेदी नारबाजी शुरू की। कृष्णा अपार्टमेंट के समीप जमकर आतिशबाजी हुई। थोड़ी देर बाद कार्यकर्ताओं से घिरी बिहारी बाबू की गाड़ी बाहर निकली और एक बार फिर नारबाजी और अबीर-गुलाल शुरू हो गई। गाड़ी में बैठे विधायक नीतिन नवीन और अरूण कुमार सिन्हा की भी जय-जयकार होते रही। रूक-रूक कर कार्यकर्ताओं व अन्य लोगों का अभिवादन स्वीकार करते हुए शत्रुघ्न का काफिला बोरिंग रोड ने निकल गया।ड्ढr ड्ढr दूसरी तरफ पाटलिपुत्र संसदीय क्षेत्र से राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद को शिकस्त देने के बाद जदयू प्रत्याशी डा. रंजन प्रसाद यादव का समर्थकों ने जोशीले अंदाज में स्वागत किया। शाम करीब छह बजे विजयी होने की घोषणा होते ही बोरिंग रोड इलाका नारों से गूंज उठा। हजारों समर्थकों की भीड़ एएन कालेज के मेन गेट पर जुट कर होली खेलने लगी। दानापुर, पालीगंज, मनेर आदि ग्रामीण इलाके से भी बड़ी संख्या में लोग आए थे। जीत का सर्टिफिकेट लेने के बाद मतगणना केन्द्र से जैसे ही डा. यादव बाहर निकले कि समर्थकों ने उन्हें घेर लिया। हर कोई उनके नजदीक जाने और माला पहनाने को बेताब। लोग इतने उतावले हो गए थे कि कई बार लगा जैसे डा. यादव कहीं गिर न जाएं। हालांकि आपाधापी में कई लोग जरूर गिर। कुछ दूरी के बाद अति उत्साही समर्थकों ने रंजन को गोद में उठा लिया। अबीर-गुलाल से सराबोर रंजन पैदल ही जुलूस के साथ बोरिंग रोड चौराहे तक गए। फिर गाड़ी से रवाना हो गये। दूसरी तरफ पराजित प्रत्याशी और उनके कार्यकर्ता ऐसे चुपचाप खिसके कि किसी को पता भी नहीं चला।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: फूल-माला, आतिशबाजी और नारबाजी