अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जेलकर्मी सींखचों के पीछे भेजे गए

ैदी हिरामन की बेउर जेल में हुई हत्या के मामले में पुलिस ने आरंभिक छानबीन के आधार पर रविवार को हिरासत में लिए गए दो जेलकर्मी शिवजी प्रसाद और शफी अहमद को सोमवार को जेल भेज दिया। हालांकि दोनों जेलकर्मी अंत-अंत तक अपने को बेकसूर बता रहे थे। सोमवार को दोनों को पूछताछ के लिए फुलवारीशरीफ डीएसपी दिलनवाज अहमद के कार्यालय ले जाया गया। वहां उनसे आवश्यक पूछताछ के बाद जेल भेज दिया गया।ड्ढr ड्ढr इधर इस मामले को लेकर जेल की बिगड़ी स्थिति के बीच सोमवार से महिला बंदियों ने भी अनशन शुरू कर दिया। जेल से छनकर आ रहीं खबरों के अनुसार महिला बंदी श्वेता सुमन, तारा देवी, संगीता उर्फ शबनम एवं हिना के नेतृत्व में महिला बंदियों ने खाना लेकर पहुंचे दफा जमादार को खदेड़ दिया। महिला बंदियों के साथ बंद उनके बच्चों में से एक बच्चे ने जब किसी से खाना मांगकर खा लिया तो उसकी मां इससे इतनी क्रोधित हो गई कि उसने ग्लास से ही अपने बेटे की पिटाई कर दी। महिला बंदियों ने मुख्यमंत्री और जेल आईाी का पुतला भी बना रखा है और उस पुतले पर अपना क्रोध उतारते हुए जेल अधीक्षक व जेलर को निलंबित करने की मांग कर रही हैं। सोमवार को गोलघर सेल में अनशन कर रहे बंदियों की स्वास्थ्य जांच के लिए गए जेल डाक्टर को भी अनशनकारी बंदियों ने गालियां दीं। बंदियों की अभद्रता से चिकित्सक उल्टे पांव लौट गए। बताया जाता है कि अनशन कर रहे दो दर्जन बंदियों की स्थिति सोमवार को काफी खराब हो गई है। भोजन व दूध के अभाव में महिला बंदियों के साथ रह रहे उनके बच्चों में से आधा दर्जन से अधिक की तबियत सोमवार की रात से बिगड़ गई है। इन सार मामलों को लेकर जेल की स्थिति दिनों दिन काफी विस्फोटक होती जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जेलकर्मी सींखचों के पीछे भेजे गए