DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्टीफन ने फिर किया दल-बदल का उल्लंघन

दुमका से निर्दलीय विधायक और पूर्व वित्त मंत्री स्टीफन मरांडी फिर दल-बदल कानून के लपेटे में आ गये हैं। निर्दलीय विधायक होने के बावजूद उन्होंने राजमहल लोकसभा क्षेत्र से झारखंड जन मोर्चा नामक राजनीतिक संगठन की ओर लोकसभा के लिए परचा दाखिल किया है। उन्होंने विधायकी से इस्तीफा भी नहीं दिया है। बगैर इस्तीफा दिये किसी दल से नामांकन दाखिल करना दल-बदल कानून का उल्लंघन है।ड्ढr स्पीकर आलमगीर आलम ने भी स्वीकारा कि स्टीफन मरांडी का निर्दलीय होकर किसी राजनीतिक दल की ओर से नामांकन पत्र दाखिल करना दल-बदल कानून का उल्लंघन है।ड्ढr स्टीफन मरांडी पर पहले से ही इस तरह का एक मामला चल रहा है। निर्दलीय विधायक होने के बावजूद उन पर एक राजनीतिक संगठन झाविमो की राजनीतिक गतिविधियों में शामिल होने का आरोप है। स्पीकर के कोर्ट में उनके खिलाफ यह मामला दर्ज है और सुनवाई भी हो चुकी है। इसके पहले भी स्टीफन मरांडी पर एक और मामला दर्ज हुआ था। जिसकी सुनवाई होकर फैसला भी आ चुका है। इस चुनाव में राजमहल से कांग्रेस विधायक थॉमस हांसदा ने राजद के टिकट पर चुनाव का नामांकन पत्र दाखिल किया है। उन पर भी दल-बदल कानून के उल्लंघन का आरोप है, क्योंकि उन्होंने न तो कांग्रेस से इस्तीफा दिया है और न ही विधायकी से।ड्ढr जानकार बताते हैं कि प्रथम दृष्टया इन दोनों नेताओं के खिलाफ स्पीकर की ओर से सुओ मोटो संज्ञान लेकर नोटिस जारी हो जाना चाहिए था। लेकिन स्पीकर का कहना है कि आचार संहिता की वजह से वह नोटिस जारी नहीं कर सकते।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: स्टीफन ने फिर किया दल-बदल का उल्लंघन