अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुष्कर्म का विरोध करने पर विधवा को जिंदा जलाया

शहर के स्टेशन रोड के पास रहने वाली एक विधवा को रविवार की रात्रि जलाकर मारने का प्रयास किया गया। इस मामले में ठाकुरगंज नप अध्यक्ष के खिलाफ पीड़िता के भैंसुर ने नामजद प्राथमिकी दर्ज करायी है। पीड़िता 0 फीसदी जल चुकी है। उसे इलाज के लिए सिलीगुड़ी के शांति नर्सिग होम में भर्ती कराया गया है। एसपी ने बताया कि पुलिस को पीड़िता का बयान लेने के लिए सिलीगुड़ी भेजा गया है। बयान के बाद ही मामले का खुलासा होग। दर्ज प्राथमिकी में पीड़िता के भैंसुर ने कहा कि नप अध्यक्ष पूर्व से ही उसे धमकी देता था।ड्ढr ड्ढr जानकारी के अनुसार रविवार की रात्रि स्टेशन रोड में रहने वाली आशा गुप्ता के हल्ला करने की आवाज बाहर के कमर में सो रहे उसके नौकर जयंत सरकार ने सुना। जैसे ही नौकर ने दरवाजा खोला तो पीड़िता के घर से मुख्य पार्षद नवीन यादव को भागते देखा। नौकर अत्यधिक जल चुकी पीड़िता के पास पहुंचा तथा बुझाने का प्रयास किया। बुझाने के क्रम में आशा ने नवीन यादव द्वारा रविवार के दिन हुए विवाद के कारण जला देने की बात बतायी तथा इसकी जानकारी नौकर ने दो मंजिला पर सो रहे भैंसुर मुन्ना गुप्ता को जानकारी देने गया। इतने में पीड़िता को घटनास्थल से हटाने का प्रयास नप अध्यक्ष नवीन यादव तथा उनके सहयोगी सुनील यादव ने किया। नौकर जयंत सरकार ने पुलिस को दिये बयान में कहा है कि आरोपी नवीन यादव द्वारा दूरभाष पर प्रतिदिन पीड़िता को यौन संबंध बनाने की धमकी दी जाती थी। पीड़िता आशा गुप्ता के पति जयप्रकाश गुप्ता का चार वर्ष पूर्व देहांत गया था। उसके बाद वह घर में ही बनी दुकान ‘प्रभात कंप्यूटर प्रिंटर्स’ पीड़िता खुद चलाती थी। पुलिस अधीक्षक एम. आर. नायक ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि थानाध्यक्ष को सिलीगुड़ी पीड़ित महिला का बयान लेने हेतु भेजा गया है। साथ ही डीएसपी रविश कुमार को घटना की जांच हेतु ठाकुरगंज भेजा गया है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दुष्कर्म का विरोध करने पर विधवा को जिंदा जलाया