अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब सिदो-कान्हू पार्क निजी हाथों में जायेगा

राज्य सरकार अब रांची के सिदो-कान्हू पार्क को निजी हाथों में देने जा रही है। सीएम हाउस, विधानसभा स्पीकर हाउस, सीएस हाउस और झारखंड हाइकोर्ट के चीफ जस्टिस हाउस के बीचो-बीच नौ एकड़ में फैले इस पार्क को निजी संस्था विकसित करगी। झारखंड स्टेट फॉरस्ट डेवलपमेंट कॉरपोरशन (ोएसएफडीसी) ने इसके लिए एक्सप्रेशन ऑफ इंटरस्ट मांगा है। इसके जमा करने की अंतिम तिथि 15 अप्रैल है। फॉरस्ट डिपार्टमेंट ने पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी के कार्यकाल में इस पार्क का निर्माण कराया था। उसके बाद इसकी देखरख की जिम्मेवारी जेएसएफडीसी को दी गयी थी। अब हाई सिक्युरिटी जोन में स्थित इस पार्क को निजी हाथों में देने को लेकर सवाल खड़ा किया जाने लगा हैं। क्योंकि एक्सप्रेशन ऑफ इंटरस्ट में पार्क के डेवलपमेंट के क्रम में वहां ओपेन एयर शो, स्नेक्स केफ, एमपीथियेटर जसी सुविधाएं होंगी। मनोरांन के अन्य साधनों के होने से भी आसपास की शांति भंग होगी। इससे पूर्व राजभवन के सामने स्थित नक्षत्र वन को भी निजी हाथों में देने की तैयारी की गयी थी, पर राजभवन की भृकुटि तनने के बाद फॉरस्ट डिपार्टमेंट ने अपने प्रस्ताव को रद्द कर दिया।ड्ढr पाइप फटी, हाारों गैलन पानी बर्बादड्ढr रांची। कोकर में महामाया धर्मकांटा के पास जलापूर्ति की पाइप लाइन फट गयी है। इससे हाारों गैलन पानी बह रहा है। एक तरफ राजधानी के विभिन्न इलाकों में पानी की कम आपूर्ति हो रही है, दूसरी तरफ यहां पानी की पाइप फट गयी है और हाारों गैलन पानी बर्बाद हो रहा है। अभी दो दिन पहले वहीं पागल बाबा मंदिर के सामने जलापूर्ति की पाइप फट गयी थी। अखबार में समाचार छपने के बाद इसकी मरम्मत की गयी। मालूम हो कि यहां अक्सर पाइप लाइन फट जाती है। यहां मेंटेनेंस के नाम पर हाारों रुपये खर्च किये जाते हैं, फिर स्थिति यथावत है। फटी पाइप का मरम्मत करने के बाद भी पानी रिसता रहता है और जब प्रेशर बढ़ता है, तो पानी फौव्वार का रूप ले लेता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अब सिदो-कान्हू पार्क निजी हाथों में जायेगा