अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीएम के लिए राहुल राग शुरू

ांग्रेस के वरिष्ठ नेता अजरुन सिंह के भी राहुल गांधी को आम चुनाव से पहले भावी पीएम के रूप में पेश करने की तरफदारी करने के बाद कांग्रेस और यूपीए के भीतर एक नयी बहस शुरू हो गयी है। एक दिन पहले राकांपा के नेता प्रफुल्ल पटेल ने कहा था कि अगर कांग्रेस राहुल को भावी प्रधानमंत्री के बतौर पेश करती है, तो एनसीपी को आपत्ति नहीं होगी।ड्ढr क्या गांधी को भावी प्रधानमंत्री के बतौर पेश किया जा सकता है? इस सवाल के जवाब में अजरुन सिंह ने कहा,‘‘क्यों नहीं? युवा राहुल में अपने पिता राजीव गांधी की सारी खूबियां हैं। और वह तेजी से सीख रहे हैं।’ हाल ही में कानपुर में संपन्न यूपी कांग्रेस के महाधिवेशन में भी यह बात जोर शोर से उठी थी। कैबिनेट में फेरबदल के मौक पर सोनिया ने कहा कि उनकी इच्छा के बावजूद राहुल ने मंत्री बनने से न कर दिया। अर्थ निकला कि राहुल का लक्ष्य कुछ और है। वैसे कुछ दिनों पहले शरद पवार और उनकी पार्टी के प्रवक्ता डी पी त्रिपाठी ने यूपीए को लोस चुनाव प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के नेतृत्व में लड़ने का सुझाव दिया था। इस बीच तमिलनाडु के मुख्यमंत्री करुणानिधि ने कहा कि यदि राहुल गांधी प्रधानमंत्री बने तो उन्हें खुशी होगी। लेकिन कांग्रेस के प्रवक्ता शकील अहमद के अनुसार इस मुद्दे पर पार्टी के भीतर कभी विधिवत चर्चा नहीं हुई हैं।ड्ढr इस हौसले को सलामसच्ची लगन और बुलंद हौसला हो, तो बड़ी से बड़ी बाधा भी रास्ता नहीं रोक सकती। रांू और विष्णु के सामने भी मुश्किलें कम नहीं थीं, लेकिन वह इंसान ही क्या जो मुश्किलों से हार मान ले। रांू ने इस कायनात को कभी अपनी आंखों से नहीं देखा मगर आज पूरा झारखंड उसकी उपलब्धि देख कर दंग है। वह झारखंड लोक सेवा आयोग में चयनित होने वाली पहली नेत्रहीन है। तमाम मुश्किलों को लांध कर मामूली चपरासी का बेटा विष्णु देव कच्छप भी आज डिप्टी कलक्टर बन गया है। ट्यूशन से लेकर होटलों में काम करके वह इस मुकाम पर पहुंचा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पीएम के लिए राहुल राग शुरू