DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अंबेदकर जंयती पर धोषणा की झड़ी।

मुख्यमंत्री मधु कोड़ा का दलित प्रम सोमवार को जाग उठा। यहां एक समारोह में शिरकत करते हुए उन्होंने घोषणाओं की झड़ी लगा दी। मौका था डोरंडा में झारखंड हाईकोर्ट के पास आयोजित डा. भीमराव अंबेदकर जयंती समारोह का। इसका आयोजन अनुसूचित जाति एवं जनजाति कर्मचारी संघ ने किया था। जाहिर है सबसे पहले उन्होंने बाबुओं पर ही मेहरबानी दिखायी। एलान किया कि राज्य में 85वां संविधान संशोधन सौ फीसदी जस का तस लागू करवायेंगे। दलित युवकों को रोजगार मुहैया कराने के लिए उन्होंने अंबेदकर सहायता योजना की भी घोषणा की।ड्ढr समारोह में मुख्यमंत्री ने बाबा साहेब के सपनों को पूरा करने का वादा किया। राजधानी में कमजोर वर्ग के लोगों के लिए रियायती दर पर आवास सुविधा उपलब्ध कराने पर जोर देते हुए उन्होंने अंबेदकर कॉलोनी बनाने की भी घोषणा की। अंबेदकर के नाम पर राजधानी में एक स्टेडियम बनाने की बात कही। श्री कोड़ा के मुताबिक अंबेदकर सहायता योजना के तहत बेरोजगार दलितों को कर्ज उपलब्ध कराया जायेगा। उन्होंने बताया कि 85वां संविधान संशोधन लागू होने से सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों को उनका वाजिब हक मिल सकेगा। (शेष पेज 1पर)ड्ढr तरक्की और वरीयता के निर्धारण में उनके साथ इंसाफ होगा।ड्ढr मुख्यमंत्री पूरी रौ में थे। समारोह में मौजूद राज्यपाल सैयद सिब्ते रजी भी उनकी तारीफ करने से अपने को नहीं रोक पाये। मुख्यमंत्री की घोषणाओं की सराहना करते हुए राज्यपाल ने कहा कि इससे समतामूलक समाज की परिकल्पना साकार होगी। समाज के सभी वर्गो को समान अधिकार मिले, यह बाबा साहेब का सपना था। सभा की अध्यक्षता संघ के अध्यक्ष अपर पुलिस महानिदेशक आरसी कैथल ने की। उन्होंने अपने संबोधन में अनुसूचित जाति एवं जनजाति के कर्मचारी तथा अधिकारियों की पीड़ा से मुख्यमंत्री को अवगत कराया। इससे पूर्व बाबा साहेब की प्रतिमा पर राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने माल्यार्पण भी किया।ड्ढr ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अंबेदकर जंयती पर धोषणा की झड़ी।