DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जीडीपी में 9.5%% वृद्धि कचची उम्मीद:सीएमआईइ

देश की अर्थव्यवस्था पर बारीकी से निगाह रखने वाले संस्थान सेन्टर फार मानिटरिंग इंडियन एकोनामी (सीएमआईई) का मानना है कि बड़े पैमाने पर हो रहे क्षमता विस्तार से चालू वित्त वर्ष के दौरान देश की अर्थव्यवस्था फिर से रफ्तार पकड़ेगी। सेन्टर ने 2008-0में साढ़े नौ प्रतिशत आर्थिक वृद्धि का अनुमान लगाया है। सेन्टर की मासिक समीक्षा में कहा गया है कि 2007-08 में आर्थिक गति का मंद होना एक झटका था और चालू वित्त वर्ष में अर्थव्यवस्था फिर से गति पकड़ेगी। सरकार के अनुमानों के मुताबिक 2007-08 में सकल घरेलू उत्पाद (ाीडीपी) में 8.7 प्रतिशत का अनुमान है, जबकि 2006-07 में यह पिछले 18 वर्ष के उच्च स्तर प्रतिशत पर थी। समीक्षा में कहा गया है कि चालू वित्त वर्ष में आर्थिक विकास की गति के बढ़ने के पीछे देश में लगातार आ रहा निवेश और तिमाही दर तिमाही अधिक से अधिक नए निवेश की घोषणा अर्थव्यवस्था में फिर से उछाल में सहायक होगी। सेन्टर का चालू वित्त वर्ष के लिए आर्थिक वृद्धि अनुमान अन्य सभी विशलेषकों की तुलना में कहीं अधिक है। लहमन ब्रदर्स का मानना है कि 2008-0में भारतीय अर्थव्यवस्था की विकास गति 7.6 प्रतिशत रहेगी, जबकि एचएसबीसी और जेपी मोरगन ने सात प्रतिशत का अनुमान ही व्यक्त किया है। चालू वित्त वर्ष के दौरान आर्थिक विकास के फिर से रफ्तार पकड़ने के पीछे सेन्टर ने कहा है कि कारखाना और निर्माण उद्योग दुबारा जोर पकड़ेगा। सेवा क्षेत्र के 10.6 प्रतिशत बढ़ने का अनुमान सेन्टर ने लगाया है।ड्ढr उसका मानना है कि 2008-0में उद्योग क्षेत्र की रफ्तार 11.4 प्रतिशत और कृषि क्षेत्र 2.प्रतिशत की दर से बढ़ सकता है। महंगाई के संबंध में सेन्टर का अनुमान है कि यह 2007-08 के औसतन साढ़े चार प्रतिशत की तुलना में एक प्रतिशत बढ़कर साढे पांच प्रतिशत तक रह सकती है।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जीडीपी में 9.5%% वृद्धि कचची उम्मीद:सीएमआईई