class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ताकि परशान जनता को मिले सस्ता अनाज

लखनऊ दाल एवं राइस मिलर्स एसोसिएशन की ओर से बाजारों में खोले जाने वाले काउण्टर पर एक बार में अधिकतम पाँच कुंतल चावल-दाल ही रखा जाएगा। पदाधिकारियों का कहना है कि ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि जनता को ही इन काउण्टरों का लाभ मिले और दुकानदार इसका लाभ न उठा पाएँ। पहले चरण में खुलने वाले आठ काउण्टरों पर एक व्यक्ित को दस किलो अनाज ही दिया जाएगा।ड्ढr एसोसिएशन के अध्यक्ष भारत भूषण गुप्ता ने बताया कि प्रमुख बाजारों में शुक्रवार से आठ काउण्टर खोले जाएँगे जहाँ चावल व दाल के पैकेट सस्ते दरों पर लोगों को उपलब्ध कराया जाएगा। इसमें मंसूरी चावल 13 रुपए प्रतिकिलो तथा आईआर-8 (मोटा चावल) 12 प्रतिकिलो मिलेगा जबकि अरहर की दाल (फस्ट क्वालिटी)- 38 रुपए प्रतिकिलो तथा सेकेण्ड क्वालिटी 35 रुपए प्रतिकिलो बेची जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रथम चरण में आलमबाग, मुरलीनगर, टुड़ियागंज, इन्दिरानगर (लेखराज मार्केट के सामने), डालीगंज, मुंशी पुलिया, डण्डइया तथा सीतापुर रोड पर डालीगंज क्रासिंग केड्ढr सामने दाल-चावल के काउण्टर खोले जाएँगे। दूसरी ओर लखनऊ वनस्पति एवं खाद्य तेल व्यापार मण्डल की ओर से सोमवार को लखनऊ के प्रमुख बाजारों में खोले गए सस्ते दाम के स्टालों पर दूसर दिन भी ग्राहकों का टोटा रहा। स्टालों पर लगे बैनर में सरसों तेल 64 रुपए लीटर, रिफाइण्ड 64 रु लीटर, वनस्पति घी 55 रुपए लीटर की दर से बेचे जाने का उल्लेख किया गया था लेकिन इसके बावजूद अधिकतर स्टाल पर दूसर दिन भी कोई ग्राहक नहीं पहुँचा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ताकि परशान जनता को मिले सस्ता अनाज