class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मैट्रिक कॉपियां जांचने में जमकर हुई धांधली

मैट्रिक की कॉपी जांचने शिक्षकों ने खूब गोलमाल किया है। 10 से 15 नंबर तक की ओवर मार्किंग की गयी है। शिवनारायण बालिका स्कूल में सील की गयी कॉपियों की जांच 15 अप्रैल को शुरू हो गयी। डीइओ द्वारा गठित शिक्षकों की दो सदस्यीय टीम कॉपी का मूल्यांकन कर रही हैं। कॉपी 16 नवंबर को भी जांची जायेगी। डीइओ ने निरीक्षण के क्रम में ओवर मार्किंग के कारण कॉपी सील कर दी थी। केंद्राधीक्षक की डायरी में से भी एक सौ से अधिक रोल नंबर मिले हैं। इसमें कॉपी में दिये गये अंक भी दर्ज हैं। इसे भी सील कर लिया गया है। इस संदर्भ में केंद्राधीक्षक से शो कॉज पूछा गया है। डीइओ ने कहा है कि जांच पूरी होने के बाद ही कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू की जायेगी। जांच में पाया गया कि जमशेदपुर की कॉपी (कोड नंबर-5117) में परीक्षक ने मनमाने अंक दिये हैं। अंदर के पेज पर नंबर कुछ है और टोटल में दस से 15 अंक अधिक कर दिये गये हैं। जांच कमेटी में खलारी हाई स्कूल एवं बोड़ेया हाई स्कूल के प्राचार्य शामिल हैं। उल्लेखनीय है कि हिन्दुस्तान ने इस मामले को गंभीरता से उठाया था रविवार के संस्करण में इससे संबंधित खबर भी छपी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मैट्रिक कॉपियां जांचने में जमकर हुई धांधली