DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजली की आंखमिचौनी ने लोगों को रुलाया

शहर का पारा ऊपर चढ़ने के साथ ही बिजली की आंखमिचौनी रुलाने लगी है। गर्मी से बचाव के लिए बिजली की आपूर्ति नियं़त्रित कर की जा रही है। नतीजतन शहर के दक्षिणी व मध्य भाग के मोहल्लों में बिजली की आंखमिचौनी ने लोगों को हलकान कर दिया है।खासकर शाम के बाद लोडशेडिंग करने की मजबूरी हो गयी है। इधर शहर का पारा मंगलवार को भी 37 डि.से. व न्यूनतम तापमान 24.1 डि.से. दर्ज हुआ। हालांकि फिलहाल हवा में नमी की मात्रा सुबह में 68 व शाम में 44 फीसदी रहने से गर्मी की तल्खी अपेक्षाकृत कुछ कम सहनी पड़ रही है।ड्ढr ड्ढr उधर मंगलवार को ताला व तिस्ता में बिजली का उत्पादन घट जाने से सूबे के बिजली कोटे में कमी आ गयी। सेंट्रल सेक्टर से मंगलवाार को सूबे को मेगावाट जबकि बरौनी से 60 व कांटी से 50 मेगावाट बिजली की आपूर्ति हुई। सोमवार को व रविवार को मेगावाट बिजली मिली थी। पेसू को 300 से 310 मेगावाट बिजली मिली।ड्ढr विद्युत बोर्ड के प्रवक्ता एसके घोष ने बताया हाइडल बिजलीघरों में मंगलवार को कुछ उत्पादन कम गया जिससे सूबे को 25 मेगावाट कम बिजली मिली।ड्ढr ड्ढr पेसू के महाप्रबंधक राजनाथ सिंह ने बताया कि मीठापुर व जक्कनपुर को 70-70,खगौल को 0 व गायघाटड्ढr को 35 मेगावाट बिजली दी गयी। उनके मुताबिक मांग के हिसाब से मीठापुर व जक्कनपुर को लगभग दस-दसड्ढr मेगावाट बिजली कम मिली जिससे शाम के बाद कुछ लोडशेडिंग करनी पड़ी। नतीजतन कंकड़बाग, राजेन्द्रनगर, पोस्टलपार्क, करबिगहिया, कदमकुआं, बुद्धमार्ग सहित कई मोहल्लों में बिजली आती-जाती रही। पश्चिमी भाग के मोहल्ले में भी ट्रिपिंग होती रही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बिजली की आंखमिचौनी ने लोगों को रुलाया