DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सोनिया को रास नहीं आई चाटुकारिता

ांग्रेस ने राहुल गांधी को भावी प्रधानमंत्री के रूप में पेश किए जाने की वकालत करने वालों को आगाह किया है कि पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी तथा महासचिव राहुल गांधी चाटुकारिता पसंद नहीं करते। इस संकेत के साथ कांग्रेस आलाकमान ने लोकसभा चुनाव से पहले राहुल को भावी प्रधानमंत्री घोषित किए जाने संबंधी अटकलों पर विराम लगाई है।ड्ढr ड्ढr कें द्रीय मंत्री प्रफुल्ल पटेल, वरिष्ठ नेता अजरुन सिंह, द्रमुक अध्यक्ष एम करुणानिधि के बाद सोमवार को एक और वरिष्ठ नेता विदेश मंत्री प्रणव मुखर्जी ने भी चुनाव से पहले राहुल को बतौर प्रधानमंत्री पेश किए जाने की तरफदारी की। इस तरह के बयानों के बीच कांग्रेस प्रवक्ता जयंती नटराजन ने कहा कि प्रधानमंत्री का पद इस समय रिक्त नहीं है। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और उनकी टीम बहुत अच्छे ढंग से काम कर रही है। कांग्रेसी हलकों में आलाकमान के कड़े रुख को लेकर तमाम तरह की अटकलें शुरू हो गई हैं। सूत्रों के अनुसार, मनमोहन सिंह के प्रधानमंत्री रहते इस तरह बड़े नेताओं का राहुल का नाम उछाला जाना कांग्रेस अध्यक्ष को रास नहीं आया। इससे एक तो डा. सिंह को बुरा लग सकता है, दूसर सरकार के सामने अस्थिरता का संकट भी पैदा हो सकता है। यह संकेत भी जा सकते हैं कि यह सब दस जनपथ के इशार पर हो रहा है। इस बीच सोमवार को मानव संसाधन विकास मंत्री अजरुन सिंह ने यहां कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की। समझा जाता है कि उन्होंने राहुल गांधी से संबंधित अपने बयान पर सफाई दी। बाद में उन्होंने कहा वह अपने बयान से नहीं पलटेंगे क्योंकि उन्होंने कुछ गलत नही कहा। ‘मुझे कांग्रेस और कैबिनेट की परंपराओं और दायित्वों का ज्ञान है।’ड्ढr ड्ढr हां, मैं जेल में पिता की कातिल से मिली:प्रियंकाड्ढr नई दिल्ली (वि.सं.)। हां, एक बेटी अपने पिता के कत्ल के आरोप में आजीवन कारावास भुगत रही महिला से जेल में मिलने और यह जानने गई थी कि उसके पिता और एक अच्छे इंसान की हत्या क्यों की गई। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुत्री प्रियंका वाडरा ने तमिलनाडु के वेल्लोर जेल में कैद नलिनी श्रीहरन से मुलाकात की पुष्टि करते हुए कहा, ‘यह मेरी ही पहल पर हुई निहायत निजी मुलाकात थी।’ प्रियंका ने कहा, ‘नलिनी के साथ मेरी मुलाकात उस हिंसा और क्षति को शांत करने के लिए है, जिससे मैं गुजरी हूं। मैं क्रोध, नफरत और हिंसा में विश्वास नहीं करती और इन सभी को अपने जीवन में कभी भी हावी नहीं होने दूंगी।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सोनिया को रास नहीं आई चाटुकारिता