DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रॉयल चैलेंजर्स के खिलाफ तत्काल सुनवाई नहीं

उच्चतम न्यायालय ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) समर्थित इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) ट्वंटी-20 टूर्नामेंट में रॉयल चैलेंजर्स टीम के नाम पर प्रतिबंध लगाने का आग्रह करने वाली याचिका पर तत्काल सुनवाई करने से इंकार कर दिया। याचिकाकर्ता ने मुख्य न्यायाधीश केजी बालकृष्णन और न्यायमूर्ति आरवी रवींद्रन की पीठ के समक्ष दायर याचिका में कहा कि 18 अप्रैल से शुरू हो रहे आईपीएल टूर्नामेंट में शराब को बढ़ावा दिया जा रहा है, जो कि अवैध है और इसका समाज पर बुरा प्रभाव पड़ेगा, इसलिए इस मामले की सुनवाई जल्द होनी चाहिए। वाई कपूर ने यह याचिका मंगलवार को दायर की थी। याचिकाकर्ता के अनुसार रॉयल चैलेंज शराब की एक ब्रांड है, जिसकी बिक्री विजय माल्या की कंपनी करती है। विजय माल्या ने आईपीएल की बेंगलुरु टीम खरीदी है और उसका नाम रॉयल चैलेंजर्स रखा है। याचिकाकर्ता ने कहा है कि क्रिकेट के नाम पर शराब के एक ब्रांड का प्रचार नहीं किया जा सकता। इस पर तत्काल रोक लगाते हुए रॉयल चैलेंजर्स टीम का नाम बदला जाना चाहिए। उच्चतम न्यायालय ने याचिकाकर्ता से कहा कि यह मामला इतना महत्वपूर्ण नहीं है और इसकी तत्काल सुनवाई की कोई आवश्यकता नहीं है। मामला सामान्य प्रक्रिया के तहत आने पर इसकी सुनावाई की जाएगी।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रॉयल चैलेंजर्स के खिलाफ तत्काल सुनवाई नहीं