अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निफ्ट छात्रों का राजभवन माच

निफ्ट के निवर्तमान डायरक्टर एमके बनर्जी की वापसी की मांग को लेकर लगभग 200 छात्रों ने कचहरी चौक से राजभवन तक मार्च किया और मुख्यमंत्री आवास तक मौन जुलूस निकाला। बनर्जी को 12 अप्रैल को केंद्रीय मंत्रिमंडल की नियुक्ित समिति ने बिना किसी पूर्व सूचना के हटा दिया था। छात्रों ने राज्यपाल सैयद सिब्ते रजी और मुख्यमंत्री मधु कोड़ा को ज्ञापन देकर मामले में हस्तक्षेप की मांग की है। छात्रों ने कहा कि इनका यह मौन प्रदर्शन निवर्तमान निदेशक की वापसी के लिए है। उन्हें ऐसा विश्वास है कि निफ्ट कैंपस के कुछ भ्रष्ट लोगों द्वारा साजिश कर बनर्जी को हटवाया गया है। विद्यार्थियों ने कैंपस में बढ़ रही वित्तीय अनियमितताओं के खिलाफ और बनर्जी को साजिश के तहत हटाये जाने पर एक नुक्कड़ नाटक का भी आयोजन किया। नाटक में यह दिखाने का प्रयास किया गया कि छात्र आखिर क्यों बनर्जी की वापसी चाहते हैं। इस बीच विद्यार्थियों का कैंपस में पांचवें दिन भी प्रदर्शन और धरना जारी रहा। कक्षाओं के बहिष्कार के साथ प्रशासनिक भवन के समक्ष दूसर दिन भी धरना दिया गया। विद्यार्थियों ने कहा कि हमलोगों का संकेतिक आंदोलन केंद्रीय मानव संसाधन विकास विभाग को सोचने पर मजबूर करने के लिए चलाया जा रहा है कि बनर्जी को हटाना गलत था। मांगें पूरी होने तक उनका धरना और कक्षा का बहिष्कार जारी रहेगा। पुलिस की लेंगे मदद कार्यकारी निदेशक वीके सिन्हा का कहना है कि हम छात्रों के साथ बातचीत करना चाहते हैं, लेकिन कोई निष्कर्ष नहीं निकल रहा है। छात्र अपनी मांग पर अडिग हैं। यदि कल भी आंदोलन जारी रहता है, तो पुलिस की मदद ली जायेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: निफ्ट छात्रों का राजभवन माच