class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

योजनाओं को छोटे किसानों तक पहुंचाना प्राथमिकता

ृषि मंत्री नागमणि ने कहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य में कृषि विकास का जो सपना देखा है उसे वे धरातल पर हर हाल में उतारंगे। इसके लिए सरकार द्वारा चलाई जा रही किसान हित की सभी योजनाओं की जानकारी राज्य के छोटे किसानों तक पहुंचाना उनकी प्राथमिकता होगी। जानकारी के अभाव में किसान योजनाओं का लाभ नहीं ले पाते। इसके अलावा बैंकों द्वारा किसानों की अनदेखी भी राज्य में एक बड़ी समस्या है। 23 अप्रैल को दिल्ली में होने वाली कृषि मंत्रियों की बैठक में वे इस मुद्द्े को उठाएंगे। वे बुधवार को कृषि मंत्री के रूप में काम संभालने के बाद अपने कार्यालय कक्ष में पहले प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित कर रहे थे।ड्ढr ड्ढr इसके पूर्व सचिवालय के गेट पर बड़ी संख्या में पहुंचे उनके समर्थकों ने मंत्री को गुलदस्दा भेंट की और फूल -मालाओं से लाद दिया। सभी समर्थक नार लगाते हुए उनके साथ कक्ष तक पहुंचे जहां उन्होंने विभाग के वरीय अधिकारियों से परिचय प्राप्त किया। उनके साथ पूर्व मंत्री सुचित्रा सिन्हा भी थीं। पत्रकारों को संबोधित करते हुए कृषि मंत्री ने कहा कि मंत्री बनने के बाद मुख्यमंत्री ने एक घंटे तक उनके साथ किसानों की स्थिति और उनकी आवश्यकताओं पर चर्चा की ।ड्ढr कृषि मंत्री ने अपने विभाग के अधिकारियों की सराहना की तो उन्हें नसीहत भी दी। उन्होंने कहा कि निर्धारित समय में योजना को अंजाम तक पहुंचाना होगा। इसमें कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अधिकारियों को किसानों की जगह खुद को रखकर योजनाएं बनानी होंगी और उसे अमलीजामा पहनाना होगा। कृषि को उद्योग का दर्जा दिलाने के लिए वे हरसंभव प्रयास करंगे लेकिन यह सबकुछ केन्द्र सरकार पर भी निर्भर करता है। उन्होंने कहा कि कृषि को उद्योग का दर्जा मिल जाए तो किसानों का सब दुख दूर हो जाएगा।एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के मंत्रिमंडल को अबतक का सबसे संतुलित मंत्रिमंडल बताते हुए उन्होंने कहा कि जम्बो मत्रिमंडल बनाने वाले भी अबतक ऐसा संतुलन नहीं बना सके थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: योजनाओं को छोटे किसानों तक पहुंचाना प्राथमिकता