अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पालीगंज में किसान की गोली मारकर हत्या

सल की रखवाली कर रहे किसान की हत्या के बाद भड़के ग्रामीणों ने अख्तियारपुर पुल के पास पटना-औरंगाबाद सड़क जाम कर जोरदार प्रदर्शन किया। इस वजह से यात्री हलकान रहे। मौके पर पहुंचे एसडीओ, डीएसपी, बीडीओ व थानेदार को भी लोगों का आक्रोश झेलना पड़ा। वे मृतक रामेश्वर शर्मा (55) के एक परिवार को सरकारी नौकरी, हत्यारों की तुरंत गिरफ्तारी, प्र्याप्त मुआवजा और ग्रामीणों को आत्मरक्षार्थ हथियारों के लाइसेंस देने की मांग कर रहे थे। हालांकि दोपहर बाद एसडीओ राजकिशोर प्रसाद और डीएसपी मो. रहमान के काफी सगझाने-बुझाने पर जाम खत्म हो गया।ड्ढr ड्ढr इससे पहले मृतक के परिजनो को पारिवारिक लाभ योजना से तत्काल 10 हजार की राशि उपलब्ध कराया गया। इदिरा व विधवा पेंशन आवास देने का भी बीडीओ विनोद कुमार ने आश्वासन दिया। साथ ही एसडीओ ने डीएम से मोबाइल पर बात करने के बाद शस्त्र की अनुज्ञप्ति देने का आश्वासन दिया। तब सड़क जाम खत्म हुआ और पुलिस को लाश उठाने में सफलता मिली। इस मौके पर पूर्व विधायक सरदार कृष्णा सिंह, दीनानाथ सिंह यादव, प्रखण्ड प्रमुख मीनाव देवी, उपप्रमुख सुरन्द्र यादव, भाजपा नेता पंकज मुखिया, रविश कुमार समेत सैकडों लोग मौजूद थे। घटना के बाबत पता चला कि अख्तियारपुर के रामेश्वर शर्मा को देख शोर मचाया तब ग्रामीण जुटे।ड्ढr ड्ढr ग्रामीणों ने बताया कि रामानुज शर्मा के खेत से 8 बोझा गेहूं चोरों ने गायब कर दिया। इनमें से दो बोझा जहां हत्या हुई वहां गिरा था। आशंका जताई जा रही है कि पहचान लिए जाने पर फसल चोरों ने ही इस क्रूरत्तम घटना को अंजाम दिया है।इस बीच पुलिस ने शक के आधार पर एक को हिरासत में ले पूछताछ कर रही है। डीएसपी ने बताया कि जल्द ही इस हत्या की गुत्थी सुलझ जाएगी और हत्यार सलाखों की भीतर होंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पालीगंज में किसान की गोली मारकर हत्या