DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पहले पैसा, तभी समझौता

छठे वेतनमान के बकाये के भुगतान पर रोक लगाने के खिलाफ तीसर दिन कर्मचारियों ने डॉ एसएन अग्रवाल का घेराव किया और कामकाज बाधित रखा। कर्मचारियों ने कहा कि पहले पैसा, तभी समझौता। जब तक हाथ में पैसा नहीं मिल जाता, आंदोलन खत्म नहीं होगा। पिछले तीन दिन से रिम्स में चिकित्सा व्यवस्था ठप है। रोगियों को बिना इलाज कराये लौटना पड़ रहा है। साथ ही भरती मरीाों को भी कई प्रकार की परशानियों का सामना करना पड़ रहा है। आउट डोर में बैठे डॉक्टरों को बाहर निकाल कर दोनों मुख्य गेट में ताला लगा दिया और इमरोंसी के सामने धरना पर बैठ गये। गेट के बाहर इलाज करानेवाले रोगियों की भीड़ लगी थी।ड्ढr आइएमए ने सरकार को हालात से अवगत कराया : कर्मचारियों के आंदोलन से रिम्स में उत्पन्न स्थिति को लेकर आइएमए चिंतित है। बुधवार को आइएमए के सचिव डॉ प्रभात कुमार ने सरकार को पत्र भेज कर स्थिति की जानकारी दी।ड्ढr आइएमए की बैठक आज : रिम्स में उत्पन्न स्थिति को लेकर आइएमए की बैठक नौ अप्रैल को आइएमए भवन में सुबह दस बजे से होगी।ड्ढr चुनाव आयोग ने वेतन बढ़ाने पर दी सहमतिड्ढr चुनाव आयोग ने राज्य सरकार को रिम्स के डॉक्टरों और कर्मचारियों को नया वेतनमान देने के लिए हरी झंडी दे दी है। आयोग ने बुधवार को राज्यकर्मियों के समकक्ष इन सबों का भी वेतन पुनरीक्षित करने के लिए अनुमति दे दी है। आयोग ने व्यवहार न्यायालय में कार्यरत कर्मचारियों को नये वेतनमान देने पर भी अपनी सहमति दे दी है। सरकार ने आयोग से इसके लिए अनुमति मांगी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पहले पैसा, तभी समझौता