अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आरा जेल में चले लाठी-डंडे, रोड़ेबाजी

वर्चस्व कायम करने को लेकर बुधवार को आरा जेल रणक्षेत्र में बदल गया। जेल के भीतर बंदियों के दो गुट आपस में ऐसे भिड़े की जमकर मारपीट हुई। दोनों तरफ से लाठी-डंडों के साथ र्इंट-पत्थर का भी इस्तेमाल किया गया। इस घटना में तीन बंदी जख्मी हो गए जिनका इलाज कराने के बाद जेल प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए सेल में डाल दिया है। सूत्रों ने बताया कि वर्चस्व को लेकर दो जातियों के बीच भिड़ंत हो गई। बाद में स्थिति विस्फोटक होने से हिंसक रूप धारण कर लिया। इस घटना में मनोज सिंह, रविरांन व चमकू राय नामक बंदी जख्मी हो गए। सूत्रों के अनुसार दोनों गुट अलग-अलग जाति के हैं। जेल में वर्चस्व स्थापित करने के लिए दोनों एक-दूसर को गाली-गलौज हैं जिससे हाथापाई होती रहती है।ड्ढr ड्ढr बुधवार को मामले ने तूल पकड़ लिया जिसमें दोनों तरफ से जमकर मारपीट हो गई। जेल अधीक्षक घनश्याम राम ने घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि अशांति फैलाने वालों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस घटना में तीन जख्मियों के अलावे रामप्रवेश सिंह, भोला सिंह, संतोष सिंह, अशोक सिंह समेत आठ बंदियों को सेल में डाल दिया गया है। नगर थाने को दोषी बांदियों के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज करने को कहा गया है। जेल अधीक्षक ने बताया कि हिंसक झड़प की सूचना मिलते ही पुलिस बल के सहयोग से हंगामे को नियंत्रित कर लिया गया। इधर दो गुटों के बीच हुई भिड़ंत के बाद जेल परिसर में तनाव व्याप्त हो गया है जिसे जेल अधीक्षक नियंत्रण में बता रहे हैं। बिहारशरीफ जेल में छापेमारी, जेलर फरारड्ढr बिहारशरीफ (नि.प्र.)। स्थानीय मंडल कारा में छापेमारी के दौरान भारी मात्रा में आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गयी है। डीएम अनुपम कुमार व एसपी विनीत विनायक ने बुधवार को जेल का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उक्त अधिकारियों ने दो मोबाइलें, चार मोबाइल चार्जर, एक मोबाइल सीम, दर्जनों हीटर, गांजा, सिगरट, धारदार हथियार व अन्य सामग्रियां बरामद की हैं। जेल सूत्रों की मानें तो ़एक कैदी के पास से 11 हजार रुपए भी बरामद किए गए हैं। छापेमारी के बाद डीएम व एसपी ने बताया कि जेल मैन्युअल का उल्लंघन कर मंडल कारा में प्रतिबंधित सामान का इस्तेमाल किया जा रहा था। जिसकी सूचना प्रशासन को मिली थी। इसी के आलोक में अहले सुबह छापेमारी की गयी। उन्होंने बताया कि बरामद सामान की सूची बनाकर सरकार के पास भेजी जाएगी। साथ ही उन्होंने बताया कि जांच में दोषी पाये जानेवालों पर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। इस छापेमारी में जेल के अंदर खाना बनाने के लिए बनाये गये अवैध चुल्हे को भी प्रशासन ने ध्वस्त किया। करीब दो घंटें की गहन छापेमारी जेल के सभी वार्डो की तलाशी ली गयी। छापेमारी के दौरान प्रभारी जेल अधीक्षक व जेलर नजर नहीं आये। इस अभियान में सदर एसडीओ शेखरचंद्र वर्मा, नगर डीएसपी मो. अब्दुल्ला, सदर डीएसपी एके सत्यार्थी, राजगीर डीएसपी एवं राजगीर, नालंदा व दीपनगर के थानाध्यक्ष भी मौजूद थे।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आरा जेल में चले लाठी-डंडे, रोड़ेबाजी