DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जंतर-मंतर पर तिब्बतियों का भारी जमावड़ा

नई दिल्ली के जंतर-मंतर पर भारी संख्या में तिब्बती प्रदर्शनकारी पहुंच गए हैं। उनके साथ पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नानडीज भी हैं। महात्मा गांधी की समाधि राजघाट पर प्रार्थना सभा करने के बाद उनकी रैली जंतर-मंतर पुहंच गई है। तिब्बती प्रदर्शनकारियों के साथ मशाल भी है जिसे वे शांति की मशाल कह रहे हैं। राजघाट से शुरू होने वाली इस दौड़ की शुरूआत तिब्बती नृत्य एवं याक नृत्यों से की जाएगी। राजधानी में कड़े सुरक्षा इंतजामों के बीच जब आेलंपिक मशाल को विजय चौक से इंडिया गेट ले जाया जाएगा उसी दौरान तिब्बती समुदाय के लोग तिब्बत में चीन के आधिपत्य के खिलाफ शांति की मशाल अन्य रास्ते पर लेकर निकलेंगे। समिति के मुताबिक यह मशाल मूलभूत आजादी के लिए तिब्बतियों के लगातार अहिंसात्मक संघर्ष और तिब्बत के मसले को बातचीत से हमेशा के लिए सुलझाने का प्रतीक है। यह मशाल तिब्बतियों की आशाआें और तिब्बत के लिए स्वतंत्रता और न्याय पाने की इच्छा को भी दर्शाती है। शांति की इस मशाल दौड़ में सामाजिक कार्यकर्ता और अभिनेत्री नफीसा अली भी भाग लेंगी। यह मशाल राजघाट से शुरू होकर एलएनजेपी रोड, रामलीला मैदान, बाराखंभा रोड से जनपथ होती हुई जंतर-मंतर तक जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जंतर-मंतर पर तिब्बतियों का भारी जमावड़ा