अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आेलंपिक मशाल के स्वागत में थम गई दिल्ली

ऐतिहासिक इंडिया गेट की छाया में पेइचिंग आेलंपिक खेलों की मशाल की चमक तो खूब बिखरी मगर उसकी हिफाजत की कवायद की वजह से दिल्ली के दिल का दम निकल गया। राजधानी में पिछली रात से ही तिब्बती युवाआें और सुरक्षा बलों के बीच लुकाछिपी चलती रही। रिले खत्म होने के समय तक पुलिसकर्मियों की जान सांसत में रही और लगभग 150 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया गया। लोकसभा में भी मशाल रिले के दौरान सुरक्षा का मामला उठा। भारतीय जनता पार्टी के विजय कुमार मलहोत्रा और समाजवादी पार्टी के मोहन सिंह ने इस दौरान समूची मध्य दिल्ली को किले में तब्दील कर देने के सरकार के कदम की आलोचना की। मशाल इस्लामाबाद से आधी रात के बाद इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा पहुंची। भारतीय आेलंपिक संघ के अध्यक्ष सुरेश कलमाडी ने मशाल ग्रहण की और उसे लेकर मध्य दिल्ली के एक पांच सितारा होटल के लिए चले। लेकिन मशाल का हवाई अड्डे से होटल तक का सफर खासा उथल-पुथल भरा रहा। पुलिस सूत्रों के मुताबिक रास्ते में धौला कुआं के नजदीक तिब्बती प्रदर्शनकारियों ने उसकी राह रोकने की कोशिश की। नइनइएपुलिस ने उनके इस प्रयास को नाकाम करते हुए लगभग 27 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया। मशाल से पहले ही प्रदर्शनकारी होटल के सामने पहुंच चुके थे। उन्होंने होटल के सामने पुलिस का घेरा तोड़ने की कोशिश की और चीन से आजादी की अपनी मांग के समर्थन में नारे लगाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आेलंपिक मशाल के स्वागत में थम गई दिल्ली