DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

24 घंटे में कार्रवाई वापस नहीं ली गयी, तो आंदोलन

रांची यूनिवर्सिटी द्वारा एक कर्मचारी के विरुद्ध की गयी कार्रवाई से विवि कर्मचारी संघ नाराज है। कर्मचारियों ने बुधवार की शाम बैठक कर निर्णय लिया कि 24 घंटे के अंदर कार्रवाई वापस नहीं हुई, तो वे आंदोलन को बाध्य होंगे। साथ ही परीक्षा विभाग के एक अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गयी।ड्ढr संघ के महासचिव नवीन चंचल ने बताया कि कुछ दिन पहले एक अधिकारी ने परीक्षा विभाग में कार्यरत कर्मचारी अशोक झा के साथ र्दुव्‍यवहार किया और उसके खिलाफ शिकायत भी की। इस आलोक में झा का कुछ अन्य कर्मचारियों के साथ ही पीजी विभाग में ट्रांसफर कर दिया गया। परंतु सामूहिक ट्रांसफर के कारण कर्मचारी चुप रहे। अब झा के एक वेतन वृद्धि रोकने का आदेश दिया गया है। इसे संघ बर्दाश्त नहीं कर सकता। उनकी मांगें नहीं सुनी गयीं, तो कामकाज ठप कराया जायेगा। बैठक में अध्यक्ष बसंत टोप्पो सहित अन्य सभी कर्मचारी शामिल थे।ड्ढr विविकर्मियों के बकाया मद में 3.74 करोड़ रुपये मिलेड्ढr रांची। रांची यूनिवर्सिटी के 103 कर्मचारियों के डीए बकाये के भुगतान के लिए सरकार से 3,74,50000 रुपये प्राप्त हो गये हैं। यह राशि कर्मचारियों के वर्ष 10 से 2000 तक के डीए बकाये के भुगतान के हैं। सरकार ने यूनिवर्सिटी को निर्देश दिया है कि पहले रिटायर कर्मचारियों का भुगतान किया जाये। राशि प्राप्त होने के बाद से ही कर्मचारी इसके भुगतान की मांग कर रहे हैं। बुधवार की शाम भी कर्मचारियों ने रािस्ट्रार से तत्काल भुगतान करने का आग्रह किया।ड्ढr आरटीआइ प्रभारी बने रहेंगेड्ढr रांची। रांची यूनिवर्सिटी के पूर्व कॉलेज निरीक्षक डॉ सुधांशु कुमार वर्मा सूचना अधिकार कानून के प्रभारी बने रहेंगे। डॉ वर्मा पहले से इस पद पर थे। कॉलेज निरीक्षक का कार्यकाल समाप्त होने के बाद भी यह जिम्मेदारी उनके ही पास रहेगी। यूजीसी पहले ही कॉलेज निरीक्षक का पद समाप्त कर चुकी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 24 घंटे में कार्रवाई वापस नहीं ली गयी, तो आंदोलन