DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत कचचो 2.2 अरब डॉलर कचची अमेरिकचची सहायता

अमेरिका के आयात निर्यात बैंक (एक्िजम बैंक) ने भारत में आधारभूत ढांचागत सुविधाओं के लिए 2.2 अरब डॉलर (लगभग 85 अरब रुपए) की सहायता मंजूर की है। इसके अंतर्गत भोपाल मेडिकल कालेज के निर्माण के लिए 2.रोड़ डॉलर की सहायता भी शामिल है। एक्िजम बैंक के अध्यक्ष जेम्स एच. लैम्ब्राइट ने कहा कि एक्िजम बैंक यह सहायता भारत में बिजली एवं अक्षय ऊर्जा उत्पादन, तेल एवं गैस उत्खनन, छोटे विमान हवाई अड्डों के विकास तथा स्वास्थ्य क्षेत्र में ढांचागत सुविधाओं के लिए मध्यम एवं दीर्घकालिक ऋण के रूप में देगा। बैंक ने बताया कि इस सहायता को आठ भारतीय वित्तीय संस्थानों के माध्यम से दिया जाएगा, जो एक्िजम बैंक को भारतीय खरीददारों को अमेरिकी सामान के आयात के बदले अपनी गारंटी प्रदान करेंगे। श्री लैम्ब्राइट ने कहा कि भारत में प्रतिस्पर्धी मूल्य और उच्च गुणवत्ता वाली अमेरिकी वस्तुओं एवं सेवाओं की मांग बढ़ रही है। इस नई सुविधाा से एक्िजम बैंक को भारत की वर्तमान एवं भावी ढांचागत परियोजनाओं के अमेरिकी निर्यात के लिए भारतीय ऋणदाताओं के साथ काम करने का मौका मिलेगा। भारत के वित्त मंत्रालय के अनुमान के मुताबिक भारत के ढांचागत विकास के लिए 500 अरब डॉलर से ज्यादा की जरूरत पड़ेगी। भारतीय परियोजनाओं को अमेरिकी निर्यात उपलब्ध कराने के लिए एक्िजम बैंक भारत के तमाम व्यापारिक, सरकारी एवं वित्तीय संस्थानों के साथ मिल कर काम कर रहा है। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में बनने वाले भोपाल मेडिकल कालेज के लिए एक्िजम बैंक नई दिल्ली स्थित पंजाब नेशनल बैंक के माध्यम से सहायता देगा। यह सहायता भोपाल मेडिकल कालेज ट्रस्ट को दी जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भारत कचचो 2.2 अरब डॉलर कचची अमेरिकचची सहायता