DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फार्म छपे नहीं, भरने की तिथि समाप्त होने को

सुशासन की कुछ गजब ही कहानी है। 1544 देसी चिकित्सकों की बहाली के लिए फार्म भरने की तिथि समाप्त होने को है पर अभी तक फार्म छपा ही नहीं है। तय कार्यक्रम के तहत 7 अप्रैल से 28 अप्रैल तक फार्म बिकना था और फार्म जमा करने की अंतिम तिथि मई रखी गयी थी। देसी चिकित्सा प्रभाग, राज्य स्वास्थ्य समिति (एसएचएस) एवं बिहार संयुक्त प्रवेश प्रतियोगिता परीक्षा पर्षद (बीसीईसीई) के बीच तालमेल नहीं होने की फजीहत झेल रहे हैं सूबे के हजारों डाक्टर। फार्म मुहैय्या करने वाले घोषित केन्द्रों पर रोज-रो भीड़ लग रही है।ड्ढr ड्ढr पटना स्थित राजकीय आयुव्रेदिक कॉलेज और राजकीय तिब्बी कॉलेज के साथ ही कई अन्य शहरों में केनरा बैंक की शाखाओं में सैकड़ों परीक्षार्थी जुटते हैं। ‘हिन्दुस्तान’ ने जब आवदेकों की इन समस्याओं की बाबत पूछताछ की तो राज्य स्वास्थ्य समिति और देसी चिकित्सा विभाग दोनों ने अपना पल्ला झाड़ते हुए दूसर से बात करने की सलाह दी। बाद में अखबार में छपे विज्ञापन की याद दिलाने पर देसी चिकित्सा प्रभाग के उपनिदेशक डा. एस.एस. सिंह ने कहा कि पिछले शनिवार को ही इससे संबंधित नया विज्ञापन छपवाने के लिए राज्य स्वास्थ्य समिति से अनुरोध किया गया है। नये कार्यक्रम के मुताबिक अब 25 अप्रैल से 16 मई तक तय केन्द्रों पर फार्म उपलब्ध होंगे। फार्म जमा करने की अंतिम तिथि 24 मई होगी और 13 जुलाई को परीक्षा होगी। उन्होंने कहा कि बीसीईसीई और राज्य स्वास्थ्य समिति के बीच तालमेल नहीं होने के कारण यह नौबत आयी है। उन्होंने कहा कि मामला सुलझ गया है, फार्म छप गया है और शीघ्र ही नया विज्ञापन समाचार माध्यमों में दे दिया जाएगा। इस परीक्षा के माध्यम से चयनित 1544 डाक्टर को अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर बहाल किये जाने हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: फार्म छपे नहीं, भरने की तिथि समाप्त होने को