DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बारिश ने राजधानी की सूरत बिगाड़ी

गुरुवार को दोपहर बाद हुई तेज बारिश ने राजधानी की सूरत बिगाड़ दी। सड़कों कीचड़ भर गया वहीं कई इलाकों में लोगों को जल जमाव का सामना करना पड़ा। सबसे अधिक परेशानी तो निचले व निर्माण कार्य चल रहे इलाके के लोगों को झेलनी पड़ी। तेज बारिश बारिश से निर्माण कार्य चल रहे इलाकों के गड्ढों में पानी भर गया और मिट्टी बहकर सड़क पर आ गयी। इससे पैदल चलनेवाले व दोपहिया चालकों को भीषण परेशानी का सामना करना पड़ा।भले ही निगम राजधानी में सफाई व्यवस्था के सुदृढ़ होने का दावा करे लेकिन बारिश की तेज धार ने दावे की हवा निकाल दी।ड्ढr ड्ढr सड़कों के किनारे जमा कीचड़ के अंबार के सड़क पर आने से स्थिति नारकीय हो गयी। पैदल चलना तो लोगों के लिए भीषण परेशानी खड़ी किया। निचले इलाकों में जल जमाव की स्थिति का पैदा हो गयी। कंकड़बाग, राजेंद्र नगर, मीठापुर, सैदपुर, संदलपुर व नेहरू नगर के इलाकों में सड़क पर पानी जमा हो गया। कंकड़बाग मोड़, कंकड़बाग मठ, चांदमारी रोड, चिड़ैयाटांड़ पुल के पास ओल्ड बाइपास रोड पर जल जमाव की स्थिति पैदा हो गयी। इस असमय बारिश से यह स्थिति तो बाद में क्या होगा आम लोगों के जेहन में यह प्रश्न उठना शुरू हो गया है। दावा किया जा रहा है कि ड्रेनेज व नालों की सफाई व उड़ाही का कार्य शुरू कर दिया गया है।ड्ढr ड्ढr ड्रेनेज निर्माण से जुड़े अफसरों को हटाने का निर्देशड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। राज्य सरकार ने कंकड़बाग ड्रनेज निर्माण से जुड़े एनबीसीसी के सभी अधिकारियों को हटाने का निर्देश एनबीसीसी प्रबंधन को दिया है। स्थानीय प्रोजेक्ट डायेरक्टर को भी हटाने को कहा गया है। नगर विकास एवं आवास विभाग के संयुक्त सचिव प्रमचन्द्र चौधरी एवं उप सचिव भुवनेश्वर ओझा ने कहा कि 30 अप्रैल तक पटना के मैनहॉल, कैचपिट एवं नालों की उड़ाही कर दी जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बारिश ने राजधानी की सूरत बिगाड़ी